West Bengal CM Mamata Banerjee serves tea to everyone at a tea stall in Nandigram | VIDEO: नंदिग्राम में दिखा ममता बनर्जी का एक नया रूप, मुख्यमंत्री ने की ‘चाय पर चर्चा’

0
17

कोलकाता: पश्चिम बंगाल (West Bengal) की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) बुधवार को नंदीग्राम (Nandigram) सीट से नामांकन पत्र दाखिल करेंगी. नामांकन से एक दिन पहले ही ‘दीदी’ अपने चुनावी क्षेत्र पहुंच चुकी हैं. यहां उनके एक-दो नहीं बल्कि कई रूप देखने को मिले. एक ओर हिंदुओं को खुश करने वाला रूप, जिसमें उन्होंने चंडी पाठ किया. दूसरी ओर ममता बनर्जी मजार भी पहुंचीं, उन्होंने मजार पर चादर चढ़ाई.

इसके बाद पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ने एक चाय की दुकान पर खुद से चाय बनाई. ममता बनर्जी नंदीग्राम में एक चाय की दुकान पर रुकीं. यहां उन्होंने लोगों को चाय पिलाई और फिर खुद भी पी. ममता बनर्जी का ये रूप आपने पहले कम ही देखा होगा.

बीजेपी पर जमकर साधा निशाना

नंदीग्राम में टीएमसी (TMC) की रैली को संबोधित करते हुए ममता ने बताया कि आखिर उन्होंने इस सीट का चुनाव क्यों किया. मंगलवार की जनसभा में उन्होंने नंदीग्राम आंदोलन की याद दिलाई. ममता ने कहा कि यहां आकर कुछ लोग बंटवारा करने की कोशिश करेंगे. ऐसे लोगों की बात मत सुनिएगा. मैं अपना नाम भूल सकती हूं, लेकिन नंदीग्राम नहीं.

ये भी पढ़ें- कौन होगा उत्तराखंड का अगला मुख्यमंत्री? इन दो नेताओं के बीच रेस

नंदीग्राम से लड़ने की बताई वजह

ममता बनर्जी ने कहा, ‘मैं चाहती तो भोवानीपुर से भी टिकट ले सकती थी. लेकिन जब नंदीग्राम के विधायक ने इस्तीफा दिया था, तब एक रैली कर मैं आप लोगों से जानने की कोशिश की थी कि क्या मैं नंदीग्राम से लड़ सकती हूं? आप लोगों ने हां कह दिया तो मैंन लड़ने का फैसला लिया.’ टीएमसी अध्यक्ष ने कहा कि सिंगुर और नंदीग्राम आंदोलन की भूमि है. इसलिए ये दोनों सीटों में से किसी एक सीट से मैं लड़ना चाहती थी.

ममता बोलीं- मैं नंदीग्राम की बेटी हूं

इस बार जब ममता बनर्जी के सामने 2011 से बड़ी चुनौती है तो उन्होंने फिर से नंदीग्राम को चुना और खुद को नंदीग्राम की बेटी कहा. उन्होंने कहा कि आज मैं आप लोगों से कहना चाहती हूं कि आप ही मेरी संपत्ति हैं. अगर आपको लगता है कि मैं आपकी बेटी हूं तभी मैं नॉमिनेशन के लिए नाम दूंगी.

नंदीग्राम में ‘बाहरी’ की लड़ाई

ममता बनर्जी ने मंच से बीजेपी पर हमला बोलते हुए कहा कि मैं खुद हिंदू हूं, मुझे हिंदुत्व मत सिखाइए. उन्होंने बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा, ‘कुछ बाहर के लोग मुझे बाहरी बता रहे हैं. दिल्ली के गुंडे मुझे बाहरी बता रहे हैं. बंगाल की बेटी आखिर बाहरी कैसे हो सकती है.’



Source link