Union Minister Prakash Javadekar recalls Babri Masjid demolition said, A historic error ended | विवादित बाबरी ढांचे पर बोले केंद्रीय मंत्री- ‘1992 में ऐतिहासिक गलती को किया ठीक’

0
85

नई दिल्ली: केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर (Prakash Javadekar) ने एक कार्यक्रम में कहा कि बाबर को पता था कि इस देश के प्राण राम मंदिर (Ram Mandir) में है, इसलिए इसे तोड़ा गया और विवादित ढांचा बनाया गया. लेकिन 6 दिसंबर 1992 में इसी ऐतिहासिक भूल को सुधारा गया था.

‘जहां इबादत नहीं होती वो मस्जिद नहीं होती’

जावड़ेकर ने आगे कहा, ‘देश में लाखों मंदिर हैं, लेकिन जब विदेशी आक्रमणकारी आए, बाबर आए, तो उन्होंने राम मंदिर को ही क्यों तोड़ा? क्योंकि उन्हें समझ आ गया था कि इस देश के प्राण अगर कहीं है तो राम मंदिर में है. इसलिए राम मंदिर पर आक्रमण करके एक विवादित ढांचा बनाया गया. वो मस्जिद नहीं थी. क्योंकि जहां इबादत नहीं होती वो मस्जिद नहीं होती. वहां कभी धार्मिक कार्य नहीं हुए.’

उन्होंने कहा कि 6 दिसंबर 1992 को कारसेवक के रूप में हम भी अयोध्या में उपस्थित थे. हम एक रात पहले वहां सोए हुए थे. बाबरी मस्जिद के तीन गुंबद दिख रहे थे. अगले दिन दुनिया ने देखा कि किस तरह से ऐतिहासिक भूल को ठीक कर दिया गया. आज अयोध्या में बनने जा रहा भव्य राम मंदिर देश में एकता का मंदिर है. जावड़ेकर ने आगे कहा कि राम देश को एकजुट करते हैं. आज विभिन्न धर्मों के लोग राम मंदिर का समर्थन कर रहे हैं. 

ये भी पढ़ें:- कोरोना मुक्त होने की कगार पर पहुंचा ये राज्य, पिछले 24 घंटों में मौत का आंकड़ा रहा 0

राम मंदिर निर्माण में दान देने वालों को किया सम्मानित

गौरतलब है कि श्रीराम जन्मभूमि मंदिर निधि समर्पण अभियान में दान देने वालों को सम्मानित करने के लिए रविवार को दिल्ली में एक कार्यक्रम आयोजित किया गया था. इस कार्यक्रम में प्रकाश जावड़ेकर भी शामिल हुए थे. उन्होंने सभी देशवासियों से श्रद्धानुसार अयोध्या में मंदिर निर्माण के लिए दान देने का आग्रह किया. उन्होंने कहा, ‘यदि हम राम मंदिर निर्माण के लिए लोगों से मदद मांगेंगे तो वे खुशी से दान देंगे. हमें हर घर पहुंचना है. लोग 10 रुपये से लेकर 10 करोड़ रुपये तक दे रहे हैं.

ये VIDEO भी देखें:- 



Source link