HomeNEWSPunjabThe city's garbage ... not just the responsibility of the public, legislators...

The city’s garbage … not just the responsibility of the public, legislators and most of the councilors reached the awareness program | शहर का कूड़ा…सिर्फ जनता की जिम्मेदारी, जागरूकता कार्यक्रम में नहीं पहुंचे विधायक और ज्यादातर पार्षद


  • Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • Jalandhar
  • The City’s Garbage … Not Just The Responsibility Of The Public, Legislators And Most Of The Councilors Reached The Awareness Program
जालंधर9 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक
  • और बड़ी बात ये…. वीआईपीज के लिए मंगवाईं 21 साइकिलों में एक चोरी, जॉइंट कमिश्नर का ड्राइवर एंबेसडर में रखकर ले गया
  • निगम के ‘मेरा कूड़ा-मेरी जिम्मेदारी’ अभियान के तहत आयोजित की गई थी रैली और जनता की भागीदारी बढ़ाने की थी अपील

सिटी में सॉलिड वेस्ट की समस्या को खत्म करने के लिए निगम द्वारा 30 दिन तक चलाए गए मेरा कूड़ा-मेरी जिम्मेदारी मुहिम का समापन खासे विवाद के साथ हुआ। दूसरी ओर साइकिल रैली के बाद कार्यक्रम में व्यस्त निगम मुलाजिमाें काे पता लगा कि वीआईपी लोगों के लिए मंगवाए गए 21 साइकिलाें में से एक गायब है। वीरवार सुबह 6 किलोमीटर की साइकिल रैली के साथ जागरूकता मुकाबले के विजेताओं को सम्मानित करने का कार्यक्रम रखा गया था। इसमें निगम के समूह अफसराें के साथ सांसद चौधरी संतोख सिंह चाैधरी और पूरी ब्यूरोक्रेसी को आमंत्रित किया गया था।

डीसी और सीपी ने कार्यक्रम में कोई दिलचस्पी नहीं दिखाई। यही हाल चारों एमएलए का रहा। डिवीजनल कमिश्नर और कुछ अफसर पहुंचे। विवाद पार्षदों के गुस्से को लेकर पनपा, जिन्हें कार्यक्रम में बुलाया नहीं गया। खासकर हेल्थ एंड सेनिटेशन एडहॉक कमेटी के किसी मेंबर को भी आमंत्रित नहीं किया गया। जबकि मेयर जगदीश राजा, सीनियर डिप्टी मेयर सुरिंदर कौर और डिप्टी मेयर हरसिमरनजीत सिंह बंटी तो पहले ही वीआईपी गेस्ट में थे। पार्षदों ने कहा कि इस अपमान के लिए मेयर जिम्मेवार हैं। इस पर मेयर ने सिर्फ इतना कहा कि पार्षदों का गुस्सा जायज है।

सांसद ने दिखाई हरी झंडी, मेयर-कमिश्नर ने चलाई साइकिल… सांसद चौधरी संतोख सिंह ने साइकिल रैली को हरी झंडी दिखाई। इसमें सिटी के बच्चों और लोगों के साथ मेयर-कमिश्नर सहित डिप्टी मेयर, पार्षद जसलीन सेठी और गुरविंदर बंटी नीलकंठ ने साइकिल चलाई। इस दौरान लोगों को फिट रखने के लिए योग और हलकी कसरत भी करवाई गई।

पकड़ा गया साइकिल चोर… जांच-पड़ताल, सीसीटीवी कैमरा और मुलाजिमों से पूछताछ के बाद हुआ मामले का खुलासा

दूसरी ओर साइकिल रैली के बाद कार्यक्रम में व्यस्त निगम मुलाजिमाें काे पता लगा कि वीआईपी लोगों के लिए मंगवाए गए 21 साइकिलाें में से एक गायब है। जांच-पड़ताल, सीसीटीवी कैमरा और मुलाजिमों से पूछताछ के बाद खुलासा हुआ कि जॉइंट कमिश्नर शायरी मल्होत्रा की एंबेसडर कार पर तैनात निगम का ड्राइवर साइकिल चुराकर भागा है। करीब 8 घंटे बाद तहबाजारी ब्रांच के सुपरिंटेंडेंट मंदीप सिंह ने निगम पुलिस बल के साथ जाकर ड्राइवर के गढ़ा स्थित घर से साइकिल बरामद किया। साइकिलों की संभाल की जिम्मेदारी मंदीप सिंह की टीम के जिम्मे थी।

बाद में खुलासा हुआ कि जॉइंट कमिश्नर के ड्राइवर राजिंदर कुमार ने पहले बेसमेंट की पार्किंग में एक साइकिल चुराकर रखा और फिर गाड़ी घर ले जाकर साइकिल छोड़ अाया। साइकिल की कीमत 18 हजार रुपए बताई गई है। मंदीप सिंह ने बताया कि इस मामले की रिपोर्ट कमिश्नर को देंगे। वही आरोपी ड्राइवर पर वाजिब एक्शन लेंगे।

पार्षद नाराज, बाेले- सम्मानित हो रहे अफसर कभी डंप पर नहीं जाते

पार्षद बलराज ठाकुर और जगदीश समराय ने कहा कि अफसर सरकार से मोटी सैलरी लेते हैं। कूड़े से निजात उनकी जिम्मेदारी है। मुहिम चलाने के लिए स्टेज पर कमिश्नर, जॉइंट कमिश्नर से पुरस्कार ले रहे हैं पर कभी एसी दफ्तर से निकलकर डंप पर नहीं जाते। सफाई में सुधार के लिए क्या पार्षद से ज्यादा इन पार्षदों का योगदान है। पार्षद मंदीप जस्सल ने कहा कि उन्हें कार्यक्रम के बारे में नहीं पता। विक्की कालिया ने कहा कि एक ग्रुप में एक सूचना ही थी।

कमिश्नर के रवैये से भी पार्षद नाखुश… पार्षदों ने कहा कि इस मामले में कमिश्नर का रवैया भी ठीक नहीं है। कारण बताया कि सिर्फ एक दिन पहले हाउस मेंबर नाम के व्हाट्सएप ग्रुप में सूचना डालने से क्या होगा। अधिकांश पार्षदों ने मैसेज ही नहीं देखा। इस मसले पर एडहॉक कमेटी ने कमिश्नर से भी मिलकर अपनी नाराजगी रखने की बात कही है।



Source link

Must Read

spot_img
%d bloggers like this: