Siddaramaiahs counterattack on HD Kumaraswamy said he is known for his lies for political benefits | Siddaramaiah का पलटवार, ‘Kumaraswamy मात्र 37 सीटों पर बने थे CM, आंसू बहाना पुरानी आदत’

0
30

बेंगलुरु: कर्नाटक (Karnataka) के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस (Congress) नेता सिद्धारमैया (Siddaramaiah) ने एच. डी. कुमारस्वामी (H. D. Kumaraswamy) के धोखा देने के आरोप पर पलटवार करते हुए कहा, ‘एच. डी. कुमारस्वामी (H. D. Kumaraswamy) झूठ बोलने में माहिर हैं. आंसू बहाना उनके परिवार की पुरानी आदत है.’

सिद्धारमैया (Siddaramaiah) ने आगे कहा, ‘एच. डी. कुमारस्वामी राजनीति की खातिर हालात के मुताबिक झूठ बोलते हैं. जनता दल (सेकुलर) को 37 सीटें मिलने के बावजूद उन्हें मुख्यमंत्री बनाना क्या हमारी गलती थी? वो हमारे सपोर्ट से 1 साल 3 महीने तक मुख्यमंत्री रहे.’

ये भी पढ़ें- Farmers Protest: Kangana का एक और ट्वीट, बोलीं- ‘अपने दुश्मनों को पहचानो’

बता दें कि शनिवार को जनता दल (सेकुलर) के नेता एच. डी. कुमारस्वामी (H. D. Kumaraswamy) ने कांग्रेस और सिद्धारमैया (Siddaramaiah) पर कई आरोप लगाए थे. एच. डी. कुमारस्वामी (H. D. Kumaraswamy) ने कहा था कि कर्नाटक में सरकार में बनाने के लिए कांग्रेस के साथ गठबंधन करना उनकी सबसे बड़ी गलती थी. कांग्रेस (Congress) का साथ देने के कारण हमारी पार्टी जनता दल (सेकुलर) ने जनता का भरोसा खो दिया.

कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री एच. डी. कुमारस्वामी (H. D. Kumaraswamy) ने आगे कहा कि वो सिद्धारमैया (Siddaramaiah) की साजिश को समझ नहीं पाए थे और कांग्रेस के ‘जाल’ में फंस गए थे और. सिद्धारमैया (Siddaramaiah) ने उन्हें बीजेपी (BJP) से बड़ा धोखा दिया.

ये भी पढ़ें- CBSE Admit Card Update: जानें कब होगें 10th/12th के Exam, कैसे मिलेगा एडमिट कार्ड

पूर्व मुख्यमंत्री एच. डी. कुमारस्वामी (H. D. Kumaraswamy) ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा, ‘मैंने मुख्यमंत्री के तौर पर साल 2006-07 में राज्य की जनता का जो भरोसा हासिल किया था और जिसे 12 साल तक बरकरार रखा, वो कांग्रेस के साथ गठबंधन करके खो दिया.’

एच. डी. कुमारस्वामी (H. D. Kumaraswamy) ने आगे कहा कि हमें कांग्रेस से कभी हाथ नहीं मिलना चाहिए था क्योंकि कांग्रेस ने जनता दल (सेकुलर) को बीजेपी की ‘B’ टीम बताकर चुनाव में प्रचार किया था. हम बीजेपी से गठबंधन करते तो मैं आज भी मुख्यमंत्री होता. लेकिन उनकी पार्टी के अध्यक्ष एच. डी. देवगौड़ा की सलाह पर वो गठबंधन सरकार बनाने के लिए राजी हुए थे.

LIVE TV



Source link