Sanjay Raut says BJP is trying to desolve Maharashtra Government through agencies | पत्नी को ED नोटिस के बाद BJP पर हमलावर हुए शिवसेना नेता संजय राउत, कहा- सरकार गिराने की साजिश

0
95

मुंबई:  शिवसेना (Shiv Sena) के सांसद संजय राउत (Sanjay Raut) ने सोमवार को आरोप लगाया कि महाराष्ट्र (Maharashtra) में उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) के नेतृत्व वाली सरकार को ‘अस्थिर’ करने के लिए केंद्रीय एजेंसियों का ‘इस्तेमाल’किया जा रहा है. राउत ने संवाददाताओं से कहा कि भाजपा नेताओं के पास कांग्रेस और राकांपा के 22 विधायकों की सूची है ‘जिनके बारे में दावा था कि केंद्रीय जांच एजेंसियों के दबाव में वे इस्तीफा दे देंगे.’

ED ने पत्नी को नोटिस दिया तो बचाव में खुद उतरे संजय राउत

प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने संजय राउत की पत्नी को एक मामले में तलब किया है, जिसके बाद उन्होंने केंद्र सरकार पर हमला किया है. राउत ने कहा, ‘मेरी पत्नी शिक्षिका हैं, BJP के नेताओं की तरह हमारी संपत्ति बढ़कर 1600 करोड़ रुपये नहीं हो गयी है.’ संजय राउत ने ये भी कहा ‘भाजपा के कुछ नेता पिछले एक साल से मुझसे संपर्क कर कह रहे हैं कि उन्होंने महाराष्ट्र सरकार को अस्थिर करने के लिए सारे इंतजाम कर लिए हैं. वे मुझपर दबाव बना रहे हैं और मुझे धमका रहे हैं.’

ये भी पढ़ें- सदन में जारी थी बहस, अचानक AAP पार्षद ने निकाल ली चप्पल, जानें पूरा मामला

राज्यसभा सदस्य ने कहा, ‘मेरी पत्नी ने 10 साल पहले एक मकान की खरीदारी के लिए एक दोस्त से 50 लाख रुपये का कर्ज लिया था. उस संबंध में पिछले डेढ़ महीने से प्रवर्तन निदेशालय के साथ लगातार पत्र-व्यवहार हुआ है.’ राउत ने कहा कि पत्र-व्यवहार के दौरान इस कर्ज राशि को लेकर सभी विवरण ईडी को मुहैया करा दिए गए थे.

प्रवर्तन निदेशालय से मिली कार्रवाई ती जानकारी

अधिकारियों ने रविवार को बताया था कि प्रवर्तन निदेशालय ने संजय राउत (Sanjay Raut) की पत्नी वर्षा राउत को पीएमसी बैंक धनशोधन मामले में पूछताछ के लिए 29 दिसंबर को तलब किया है. तीसरी बार उनको तलब किया गया है इससे पहले दो मौके पर उन्होंने स्वास्थ्य का हवाला देकर आने से इनकार कर दिया था.

ये भी पढ़ें- Kangana Ranaut के पक्ष में बोलने पर RJ प्रीतम सिंह के संग हुई मारपीट, जानिए किस पर है आरोप

राकांपा अध्यक्ष शरद पवार से चर्चा करूंगा: संजय राउत

क्या वर्षा राउत ईडी के सामने पेश होंगी, यह सवाल पूछे जाने पर संजय राउत ने कहा, ‘मैं राकांपा अध्यक्ष शरद पवार से भी चर्चा करूंगा .’ राउत ने दावा किया कि उनके पास भाजपा के 120 नेताओं की सूची है जिनके खिलाफ धन शोधन मामले में ED को जांच करनी चाहिए. ईडी द्वारा पत्नी को तलब किए जाने संबंधी सवाल पर राउत ने आरोप लगाया कि (भाजपा के) राजनीतिक प्रतिद्वंद्वियों के परिवार के सदस्यों के खिलाफ केंद्रीय एजेंसियों का ‘हथियार’ की तरह इस्तेमाल किया जा रहा है.

राउत ने संवाददाताओं से कहा कि ईडी की कार्रवाई उनके खिलाफ भाजपा की ‘हताशा’ को दिखाता है क्योंकि उन्होंने पिछले साल महा विकास आघाड़ी सरकार के गठन में महत्वपूर्ण भूमिका निभायी थी और किसी भी दबाव के आगे नहीं झुके. राउत ने कहा, ‘जब ED ने पत्र व्यवहार में PMC बैंक मामले और HDIL के मामले का जिक्र ही नहीं किया तो BJP के नेता ऐसा कैसे कह सकते हैं.’

इस वजह से हुआ था महाराष्ट्र में महाविकास अघाड़ी मोर्चा का जन्म 

शिवसेना के नेतृत्व वाली महा विकास आघाड़ी (MVA) सरकार में राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) और कांग्रेस घटक है. महाराष्ट्र में विधानसभा चुनावों के बाद मुख्यमंत्री पद को लेकर विवाद के बाद शिवसेना और भाजपा के रास्ते अलग हो गए थे. इसके बाद महा विकास आघाड़ी सरकार का गठन हुआ था.

LIVE TV
 



Source link