Saamana taunted PM Narendra Modi, praised Rahul Gandhi | शिवसेना बनी राहुल गांधी की प्रशंसक, पीएम मोदी पर यूं साधा निशाना

0
71

मुंबई: महाराष्ट्र (Maharashtra) में कांग्रेस और NCP के साथ मिलकर सरकार चला रही शिवसेना (Shiv Sena) ने एक बार फिर पीएम नरेंद्र मोदी पर तंज कसा है. शिवसेना के मुखपत्र सामना (Saamana) में छपे लेख में कहा गया है कि पीएम मोदी कई बार टीवी पर बोलते-बोलते सिसकने लगते हैं. वे ‘मन की बात’ के माध्यम से आकाशवाणी करते हैं, इसलिए उनके पास मन भी है. 

पीएम मोदी के भाषण का उड़ाया मजाक

सामना (Saamana) ने लिखा,’मोदी (Narendra Modi) का कहना है कि दिल्ली के कुछ लोग मुझ पर तंज कसते रहते हैं और मेरा अपमान करते हैं. मोदी ने ऐसा कहा है, जो कि धक्कादायक है. हमारे प्रधानमंत्री का अपमान कौन कर रहा है.’ सामना ने सवाल पूछा कि बीजेपी नेता कहते हैं कि कांग्रेस के वर्तमान नेतृत्व को हम गंभीरता से नहीं लेते और उसी समय ये भी कहते हैं कि राहुल गांधी (Rahul Gandhi) हमारा अपमान करते हैं. आखिर ये दोनों बातें एक साथ कैसे संभव हैं? 

किसान आंदोलन पर सरकार पर साधा निशाना

किसान आंदोलन का मुद्दा उठाते हुए सामना (Saamana) ने लिखा कि पिछले कई दिनों से दिल्ली की कड़कड़ाती ठंड में हजारों किसान खुले में आंदोलन कर रहे हैं. लेकिन सरकार चुप्पी साधे बैठी है. किसानों के आक्रोश पर सरकार कोई पहल क्यों नहीं कर रही. पीएम मोदी (Narendra Modi) लगातार किसान आंदोलन को नजरअंदाज करने की कोशिश क्यों कर रहे हैं. 

चीन की घुसपैठ पर क्यों नहीं बोलते पीएम मोदी

चीन की अतिक्रमण पर सवाल उठाते हुए सामना ने लिखा कि प्रधानमंत्री जम्मू-कश्मीर जिला विकास परिषद चुनाव पर बोलते हैं लेकिन लद्दाख में घुसे चीनी सैनिकों पर नहीं बोलते. जब विरोधी दल घुसपैठ करनेवाले चीनी सैनिकों की बात करते हैं तो यह उन्हें अपमान या तंज प्रतीत होता है. आखिरकार प्रधानमंत्री मोदी और गृहमंत्री शाह पर कोई क्यों तंज कसेगा? उनके पास बहुमत है. 

ये भी पढ़ें- दिवालिएपन के हाशिए पर खड़ा है ‘विपक्ष’, शिवसेना ने सामना के जरिए कसा तंज

जब तक सीबीआई, ईडी हैं, तब तक सरकार सुरक्षित

नेता और अफसरों पर केंद्रीय एजेंसियों की छापेमारी का मुद्दा उठाते हुए सामना (Saamana) ने लिखा कि जब तक सीबीआई, ईडी और आयकर विभाग उनकी बहुमत के रखवाले बने हुए हैं. तब तक उन्हें चिंता करने की आवश्यकता नहीं है. ये एजेंसियां मोदी सरकार को पूरे पांच साल सेफ रखेंगी. लेकिन उसके बावजूद उन्हें जनता की अदालत में जवाब देना होगा.

LIVE TV



Source link