Red Fort Violence: Delhi police gets Deep Sidhu’s clue after he Recharged of 799 | 799 रुपये का रिचार्ज कर फंस गया दीप सिद्धू, जानें क्राइम ब्रांच ने कैसे कसा शिकंजा

0
21

नई दिल्ली: गणतंत्र दिवस (Republic Day) के मौके पर लाल क़िले पर हुई हिंसा (Red Fort Violence) के आरोपी पंजाबी एक्टर दीप सिद्धू (Deep Sidhu) के खिलाफ क्राइम ब्रांच को कई सबूत मिले हैं. पुलिस के सूत्रों के मुताबिक, क्राइम ब्रांच को दीप के खिलाफ वीडियोज और फोटोज एविडेंस के अलावा कई टेक्निकल एविडेंस भी मिले हैं, जिनसे साबित होता है कि वो 26 जनवरी को लाल क़िले पर हुई हिंसा में शामिल था.

दरअसल दीप सिद्धू 26 और 27 जनवरी तक दो मोबाइल नंबरों का इस्तेमाल कर रहा था. खासतौर पर 26 जनवरी की CDR के जरिए दिल्ली पुलिस हिंसा में उसकी मौजुदगी साबित करेगी. 

इन नंबरों का दीप ने किया इस्तेमाल

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, पर 26 जनवरी को दीप सिद्धू के 93213***** इस मोबाइल नंबर की लोकेशन 3 बजकर 10 मिनट पर राज घाट और लाल क़िले के बीच थी. इस दौरान दीप सिद्धू लाल किले में मौजूद था. 

लाल क़िले में हिंसा होने के बाद दीप सिद्धू सिंघु बॉर्डर गया जहां 4 बजकर 23 मिनट पर हरियाणा के कुंडली में उसकी लोकेशन मिली. सिंघु बॉर्डर कुंडली इलाके में ही आता है. इसके बाद रात 10 बजे दीप की लोकेशन हरियाणा के शाहबाद-कुरुक्षेत्र इलाके में मिली और उसके बाद उसका ये मोबाइल नंबर बंद हो गया था.

नेटफ्लिक्स ने दीप को पकड़वाया!

27 जनवरी को दीप का मोबाइल नंबर 98700**** एक्टिव हुआ. इस नंबर से उसने 799 रुपये का नेटफ्लिक्स रिचार्ज करवाया. इस नंबर की लोकेशन पंजाब के पटियाला में मिली और यहीं पर ये नंबर बंद हो गया. लेकिन नेटफ्लिक्स रिचार्ज करवाते ही दीप ने दिल्ली पुलिस को पहला क्लू दे दिया था. इसके बाद स्पेशल सेल की कई टीमें वहां भेज दी गई थीं.

कई नंबरों का इस्तेमाल करता रहा दीप सिद्धू

इसके बाद लाल क़िला हिंसा का आरोपी दीप सिद्धू कई और नंबरों का इस्तेमाल करता रहा. दिल्ली पुलिस उसे ट्रैक करती रही और आखिरकार उसे हरियाणा के करनाल से गिरफ्तार कर लिया गया. 

दीप के बैंक अकाउंट भी खंगालेगी पुलिस 

दिल्ली पुलिस अब दीप सिद्धू का बैंक अकाउंट भी खंगाल रही है और इस बात की जांच कर रही है कि क्या दीप को कहीं से फंडिंग हुई थी? और अगर हुई तो आखिर किसने उसे फंडिंग की. क्राइम ब्रांच हिंसा में हुई फॉरेन फंडिंग की भी जांच कर रही है.



Source link