राम नाथ कोविंद, वेंकैया नायडू और पीएम मोदी ने गुरु गोबिंद सिंह को किया नमन

0
143

नई दिल्लीः राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और उपराष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू ने गुरुवार को सिखों के दसवें गुरु गोबिंद सिंह जी की जयंती पर उन्हें नमन किया तथा देशवासियों को प्रकाश पर्व की शुभकामनाएं दी हैं।

राम नाथ कोविंद ने ट्वीट कर कहा कि गुरु गोबिंद सिंह जी को उनकी जयंती पर मेरी श्रद्धांजलि। उनका जीवन लोगों की सेवा और सत्य, न्याय एवं करुणा के जीवन-मूल्यों के प्रति समर्पित रहा। गुरु गोबिंद सिंह जी का जीवन और शिक्षाएं हमें आज भी प्रेरित करती हैं।’’

f India

✔ @rashtrapatibhvn

 

 

गुरु गोविन्‍द सिंह जी को उनकी जयन्‍ती पर मेरी श्रद्धांजलि। उनका जीवन लोगों की सेवा और सत्‍य, न्‍याय एवं करुणा के जीवन-मूल्यों के प्रति समर्पित रहा। गुरु गोविन्‍द सिंह जी का जीवन और शिक्षाएं हमें आज भी प्रेरित करती हैं — राष्ट्रपति कोविन्द

15.8K

7:55 AM – Jan 2, 2020

Twitter Ads info and privacy

2,097 people are talking about this

उपराष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू ने कहा कि आज गुरु गोबिंद सिंह जी की जन्म जयंती के पावन अवसर पर पूज्य गुरु की स्मृति को सादर नमन करता हूं तथा देशवासियों को हार्दिक शुभकामनाएं देता हूं। गुरु गोबिंद सिंह जी का जीवन संदेश तथा उनके कृतित्व हमारे राष्ट्रीय, सामाजिक और निजी जीवन में आज भी अनुकरणीय हैं। उनकी शिक्षा हमारे राष्ट्रीय जीवन का मार्ग दर्शन करें और हमें प्रेरणा दे कि हम मानवता के काम आ सकें।

पीएम मोदी ने ट्वीट किया, ‘‘हम पूज्य श्री गुरु गोबिंद सिंह जी को उनके प्रकाश पर्व पर नमन करते हैं। उन्होंने इस अवसर पर वीडियो संदेश भी पोस्ट किया, जिसमें उन्होंने कहा कि साथियों आज श्री गुरु गोबिंद सिंह महाराज का प्रकाश पर्व देश मना रहा है। खालसा पंथ के सृजनहार, मानवता के पालनहार, भारतीय मूल्यों के लिए समर्पित गुरु गोबिंद सिंह जी को मैं श्रद्धा पूर्वक नमन करता हूं। श्री गुरु गोबिंद सिंह जी के व्यक्तित्व में अनेक विधाओं का संगम है, वो गुरु तो थे ही, भक्त भी श्रेष्ठ थे, वो जितने अच्छे योद्धा थे उतने ही बेहतरीन कवि और साहित्यकार भी थे। अन्याय के विरुद्ध उनका जितना कड़ा रुख था, उतना ही शांति के लिए भी आग्रह था।

Narendra Modi

@narendramodi

We bow to the venerable Shri Guru Gobind Singh Ji on his Prakash Parv.

ਦਸਮ ਪਿਤਾ ਸਾਹਿਬ ਸ੍ਰੀ ਗੁਰੂ ਗੋਬਿੰਦ ਸਿੰਘ ਜੀ ਦੇ ਪ੍ਰਕਾਸ਼ ਪੁਰਬ ਮੌਕੇ ਅਸੀਂ ਉਨ੍ਹਾਂ ਅੱਗੇ ਸੀਸ ਝੁਕਾਉਂਦੇ ਹਾਂ।

10.5K people are talking about this

मानवता की रक्षा के लिए, राष्ट्र की रक्षा के लिए और धर्म की रक्षा के लिए उनके सर्वोच्च बलिदान से देश और दुनिया परिचित है। वीरता के साथ उनकी जो धीरता थी, धैर्य था वो अछ्वुत था। वे संघर्ष करते थे लेकिन त्याग की पराकाष्ठा अभूतपूर्व थी। वे समाज में बुराईयों के खिलाफ लड़ते थे, ऊंच-नीच का भाव, जातिवाद का जहर उसके खिलाफ भी गुरु गोबिंद सिंह जी ने संघर्ष किया। यही सारे मूल्य नए भारत के निर्माण के मूल में हैं। मुझे विश्वास है कि हम सभी गुरु जी के बताए मार्ग से नए भारत के अपने संकल्प को और मजबूत करेंगे।