PFI pastes controversial posters related to Babri Masjid in Katihar district of Bihar | PFI ने बिहार के कटिहार में चिपकाए Babri Masjid के पोस्टर, लिखा- एक दिन होगा बाबरी का उदय

0
25

पटना: बाबरी विध्वंस (Babri Demolition) की बरसी पर रविवार को बिहार के कटिहार (Katihar) में कई जगहों पर विवादित पोस्टर लगाए गए. बताया जा रहा है कि कथित रूप से ये पोस्टर विवादों में घिरे संगठन पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (Popular Front of India) ने चिपकाए हैं. पोस्टर कटिहार के जिलाधिकारी और पुलिस अधीक्षक कार्यालय के बाहर लगाए गए.

पोस्टर में क्या लिखा है

पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (PFI) के नाम से कटिहार (Katihar) में लगाए गए इन पोस्टरों में लिखा है, ‘एक दिन बाबरी का उदय होगा. छह दिसंबर 1992 कहीं हम भूल न जाएं.’ हिंदी और उर्दू दोनों भाषा में लिखे गए इन पोस्टरों में दिल्ली का एक पता भी लिखा गया है.

ये भी पढ़ें- बाबरी विध्वंस की बरसी पर Asaduddin Owaisi बोले- ‘नई पीढ़ी को नहीं भूलने देंगे नाइंसाफी’

लाइव टीवी

जांच में जुटी पुलिस

पोस्टर देखने के बाद स्थानीय लोगों ने पुलिस को इस बारे में सूचित किया. कटिहार के पुलिस अधीक्षक विकास कुमार ने कहा कि पोस्टर लगाए जाने की सूचना मिलने के बाद मामले की जांच की जा रही है और जल्द ही इस संबंध में एक मामला दर्ज किया जाएगा.

उपमुख्यमंत्री ने कही ये बात

बिहार के मुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद ने भी कार्रवाई का आश्वासन दिया और कहा कि गृह विभाग ने इस मामले को गंभीरता से लिया है और सरकार ऐसे तत्वों के खिलाफ जरूर कार्रवाई करेगी. बता दें कि तारकिशोर प्रसाद कटिहार विधान सभा क्षेत्र का प्रतिनिधित्व करते हैं और इस बार चुनाव में उन्होंने इस सीट से जीत दर्ज की थी.

बाबरी विवाद पर आ चुका है कोर्ट का फैसला

बता दें कि 6 दिसंबर 1992 को अयोध्या में बाबरी ढांचे को ध्वस्त (Babri Demolition) कर दिया गया था. हालांकि अब इस मामले पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला आ चुका है और अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण शुरू हो चुका है. वहीं इसके अलावा मस्जिद ढहाने के मामले में भी कोर्ट ने सभी आरोपियों को भी बाइज्जत बरी कर दिया है.

ईडी की पीएफआई के ठिकानों पर छापेमारी

इससे पहले प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने 3 दिसंबर को बिहार के पूर्णिया और दरभंगा समेत देशभर में पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (PFI) से जुड़े 26 ठिकानों पर छापेमारी की थी. इसके अलावा ईडी ने पीएफआई के खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग के कई मामलों की भी जांच कर रही है.



Source link