Passengers returning from United Kingdom sent to quarantine center angry with Maharashtra government Coronavirus | Coronavirus: United Kingdom से लौटे यात्री Mumbai में किए गए क्वारंटीन, महाराष्ट्र सरकार पर भड़के

0
65

मुंबई: भारत ने सोमवार को यूनाटेड किंगडम (United Kingdom) से आने वाले विमानों पर अस्थाई रूप से पाबंदी लगा दी. यूनाइटेड किंगडम में कोरोना वायरस (Coronavirus) महामारी से बिगड़ते हालात को देखते हुए भारत सरकार ने एहतियातन ये कदम उठाया है. 22 दिसंबर से यूनाइटेड किंगडम से आने वाले विमानों पर ये प्रतिबंध लागू होगा. इस दौरान यूरोप से लौटे यात्रियों को क्वारंटीन (Quarantine) किया जाएगा.

बता दें कि यूनाइटेड किंगडम (United Kingdom) से आने वाले विमानों पर 31 दिसंबर तक पाबंदी जारी रहेगी. एहतियात के तौर पर महाराष्ट्र सरकार (Maharashtra Government) ने भी केंद्र सरकार के फैसले पर अमल करते हुए यूनाइटेड किंगडम (United Kingdom) से आने वाले सभी विमानों पर 31 दिसंबर तक रोक लगा दी है.

वहीं दूसरी तरफ जो लोग मुंबई (Mumbai) एयरपोर्ट पर सोमवार देर रात तक आ चुके थे, उनके लिए महाराष्ट्र सरकार और बीएमसी (BMC) के तरफ से खासा इंतजाम किया गया. एयरपोर्ट पर मौजूद यात्रियों को बसों में बैठाकर राज्य सरकार द्वारा चुने गए होटलों में ले जाकर रखा गया, जहां 5 से 7 दिन के बाद सभी यात्रियों का RT-PCR टेस्ट किया जाएगा.

ये भी पढ़ें- JK: डीडीसी चुनाव के लिए वोटों की गिनती आज, BJP-गुपकार गठबंधन के बीच मुख्य मुकाबला

कोरोना वायरस (Coronavirus) से सुरक्षा के मद्देनजर महाराष्ट्र सरकार ने 22 दिसंबर से 5 जनवरी तक 15 दिन के लिए नाइट कर्फ्यू लगाने का ऐलान भी किया है. नाइट कर्फ्यू रात 11 बजे से सुबह 6 बजे तक लागू रहेगा. इस दौरान गाड़ियों की आवाजाही बंद रहेगी और लोगों को घर से बाहर निकलने की आजादी नहीं होगी.

महाराष्ट्र (Maharashtra) के सभी महानगरपालिका क्षेत्रों में मंगलवार से 5 जनवरी तक नाइट कर्फ्यू लागू रहेगा. इस दौरान देर रात यूनाइटेड किंगडम से लौटे यात्रियों को एयपरपोर्ट से क्वारंटीन सेंटर भेजा गया. क्वारंटीन सेंटर भेजे जाने पर यात्रियों ने नाराजगी जताई है.

ये भी पढ़ें- सावधान! Corona से ठीक होने के बाद हो सकता है आपके दांतों पर वार

यात्रियों का कहना है कि उन्हें क्वारंटीन किए जाने की पहले से कोई जानकारी नहीं दी गई. अगर पहले से सूचना दी गई होती तो वो यूनाइटेड किंगडम में ही रुक जाते. यहां भारत नहीं आते.

एयरपोर्ट पर अपने रिश्तेदार को रिसीव करने पहुंचे एक शख्स ने कहा कि ये एक मेंटल टॉर्चर है. क्वारंटीन करने की जानकारी पहले से दी जानी चाहिए थी. क्वारंटीन किए जाने के कारण बहुत टाइम बर्बाद होगा.

LIVE TV



Source link