Master Mind Clerk, who embezzled 99 lakhs in Kulgran School, surrendered | कुलग्रां स्कूल में 99 लाख का गबन करने वाले मास्टर माइंड क्लर्क ने किया सरेंडर

0
48


नंगल17 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक
  • आरोपी पर वेतन और पीएफ के जाली बिलों द्वारा गबन का है अारोप, 221 जाली बिल बनाए

नंगल सब डिवीजन के अंतर्गत आने वाले कुलग्रां मिडिल स्कूल में 99 लाख रुपए लाख का गबन करने के आरोपी और गबन के मास्टर माइंड क्लर्क ने 5 महीने बाद पुलिस के सामने आत्म समर्पण कर दिया है। शिक्षा विभाग के डीईओ के निर्देशानुसार 2 प्रिंसिपल ने पूरे गबन की जांच की। इसमें उन्होंने 99 लाख रुपए के गबन की रिपोर्ट डीईओ को दी, जिसके बाद पुलिस ने उस रिपोर्ट पर 19 जून को स्कूल के रिटायर्ड हेड मास्टर सुरेश कुमार और गबन के समय स्कूल में तैनात रहे क्लर्क राजीव कुमार पर 99 लाख रुपए के गबन का मामला दर्ज किया था। आत्म समर्पण करने वाला क्लर्क तब से फरार था। मिली जानकारी के अनुसार पुलिस ने अपनी जांच में पाया कि क्लर्क राजीव ही इस गबन का मुख्य आरोपी है।

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार नंगल थाना पुलिस थाना प्रभारी पवन चौधरी की अगुवाई में पुलिस केस पर लगी हुई थी। क्लर्क राजीव कुमार ने आत्म समर्पण पुलिस के दबाव के चलते किया है। गौरतलब हो कि 21 जून को भास्कर में इस गबन पर खबर प्रकाशित की गई थी। जिसमें बताया था कि क्लर्क ने 4 वर्षों में अपने ही नाम के अध्यापक राजीव कुमार के नाम पर 221 जाली बिल रिटायर्ड हेड मास्टर से हस्ताक्षर करवाकर खजाने से पास कराए थे। जाली 221 बिलों के द्वारा उसने 99 लाख रुपए निकाले थे।

सच्चाई जल्द सामने लाई जाएगी : थाना प्रभारी

थाना प्रभारी पवन चौधरी ने कहा कि आरोपी क्लर्क राजीव कुमार पुलिस हिरासत में है। जब उनसे रिटायर्ड हेड मास्टर के बारे में पूछा तो उन्होंने कहा कि अभी तक की जांच में हेड मास्टर की कोई खास भूमिका सामने नहीं आई है। बाकी जांच कर रहे हैं। हमारी कोशिश है कि गबन की पूरी सच्चाई जल्द सामने लाई जाए। डीईओ राज कुमार खोसला से संपर्क करने पर उन्होंने कहा कि वह वीडियो कांफ्रेंस में व्यस्त है। वह बात नहीं कर सकते।



Source link