Jalalabad Violence Case : Case Against Six Akali Leaders And Sixty Unknown Workers Of Congress – जलालाबाद हिंसा मामला : छह अकाली नेताओं और कांग्रेस के साठ अज्ञात वर्करों पर केस  

0
140

जलालाबाद में हंगामा करते शिरोमणि अकाली दल और कांग्रेस के कार्यकर्ता।
– फोटो : फाइल फोटो

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें

पंजाब के जलालाबाद में मंगलवार को नगर काउंसिल चुनाव के नामांकन पत्र भरने को लेकर अकालियों और कांग्रेसियों के बीच खूनी भिड़ंत हो गई थी। इस मामले में पुलिस ने अकाली दल के तीन सीनियर नेताओं समेत छह लोगों पर, जबकि कांग्रेस के 60 अज्ञात वर्करों के खिलाफ मामला दर्ज किया है। अभी तक किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है। 

बुधवार को तीसरे दिन भाजपा और आजाद उम्मीदवारों ने एसडीएम कार्यालय में अपने नामांकन पत्र भरे। एसएसपी हरजीत सिंह ने कहा कि कांग्रेसी विधायक रमिंदर आवला और उनके बेटे के खिलाफ कोई मामला दर्ज नहीं किया गया है। कोर्ट परिसर में भिड़े दोनों पक्षों के खिलाफ मामला दर्ज किया है। जिन साठ अज्ञात लोगों पर मामला दर्ज किया है, उनकी पहचान के लिए वीडियो व सीसीटीवी कैमरे की फुटेज देखी जाएगी और फिर उन पर कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

यह भी पढ़ें – पंजाब : जलालाबाद में सुखबीर बादल की गाड़ी पर हमला, कांग्रेस विधायक, उनके बेटे और 60 अन्य पर केस दर्ज

अकाली दल के अध्यक्ष सुखबीर बादल के ओएसडी सतिंदरजीत सिंह मंटा ने पुलिस को दिए बयान में कहा कि मंगलवार सुबह करीब 11 बजे सुखबीर बादल अकाली प्रत्याशियों के साथ कोर्ट परिसर स्थित एसडीएम कार्यालय में नामांकन पत्र भरने जा रहे थे। सभी रास्ते सील थे। जिस रास्ते से जज जाते हैं, उस रास्ते से वे कोर्ट परिसर में प्रवेश कर रहे थे कि कांग्रेसियों ने उन पर पथराव कर दिया। पथराव से सुखबीर बादल की गाड़ी के शीशे टूट गए और चार वर्कर जख्मी हो गए। 

उन्होंने आरोप लगाया कि देखते ही देखते कांग्रेसी विधायक रमिंदर आवला और उसके बेटे ने पिस्तौल से गोलियां दागना शुरू कर दिया। थाना सिटी ने मंटा के बयान पर कांग्रेसियों के साठ अज्ञात वर्करों पर मामला दर्ज किया है। एसएसपी फाजिल्का कह रहे हैं कि विधायक व उनके बेटे के खिलाफ कोई मामला दर्ज नहीं किया गया है। जिन साठ वर्करों पर केस दर्ज किया गया है, उनकी पहचान की जानी है।

थाना सिटी पुलिस के एसआई मलकीत सिंह ने बताया कि कांग्रेसी नेता रमजीत सिंह पुत्र कुलदीप सिंह वासी गांव मंडी रोड़ा वाला ने बयान दिया कि कोर्ट परिसर में शांतिपूर्वक नामांकन पत्र भरने की प्रक्रिया चल रही थी। अकालियों ने वहां पहुंचते ही पथराव व गोलियां चलाना शुरू कर दिया। पुलिस ने पथराव व गोली चलाने के आरोप में अकाली दल के शहरी प्रधान अशोक अनेजा,  ट्रक यूनियन के पूर्व प्रधान जगसीर सिंह बब्बू जैमलावाला व मार्केट कमेटी के पूर्व चेयरमैन दविन्दर बब्बल समेत छह लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है। सभी आरोपी फरार हैं। 

पंजाब के जलालाबाद में मंगलवार को नगर काउंसिल चुनाव के नामांकन पत्र भरने को लेकर अकालियों और कांग्रेसियों के बीच खूनी भिड़ंत हो गई थी। इस मामले में पुलिस ने अकाली दल के तीन सीनियर नेताओं समेत छह लोगों पर, जबकि कांग्रेस के 60 अज्ञात वर्करों के खिलाफ मामला दर्ज किया है। अभी तक किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है। 

बुधवार को तीसरे दिन भाजपा और आजाद उम्मीदवारों ने एसडीएम कार्यालय में अपने नामांकन पत्र भरे। एसएसपी हरजीत सिंह ने कहा कि कांग्रेसी विधायक रमिंदर आवला और उनके बेटे के खिलाफ कोई मामला दर्ज नहीं किया गया है। कोर्ट परिसर में भिड़े दोनों पक्षों के खिलाफ मामला दर्ज किया है। जिन साठ अज्ञात लोगों पर मामला दर्ज किया है, उनकी पहचान के लिए वीडियो व सीसीटीवी कैमरे की फुटेज देखी जाएगी और फिर उन पर कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

यह भी पढ़ें – पंजाब : जलालाबाद में सुखबीर बादल की गाड़ी पर हमला, कांग्रेस विधायक, उनके बेटे और 60 अन्य पर केस दर्ज

अकाली दल के अध्यक्ष सुखबीर बादल के ओएसडी सतिंदरजीत सिंह मंटा ने पुलिस को दिए बयान में कहा कि मंगलवार सुबह करीब 11 बजे सुखबीर बादल अकाली प्रत्याशियों के साथ कोर्ट परिसर स्थित एसडीएम कार्यालय में नामांकन पत्र भरने जा रहे थे। सभी रास्ते सील थे। जिस रास्ते से जज जाते हैं, उस रास्ते से वे कोर्ट परिसर में प्रवेश कर रहे थे कि कांग्रेसियों ने उन पर पथराव कर दिया। पथराव से सुखबीर बादल की गाड़ी के शीशे टूट गए और चार वर्कर जख्मी हो गए। 

उन्होंने आरोप लगाया कि देखते ही देखते कांग्रेसी विधायक रमिंदर आवला और उसके बेटे ने पिस्तौल से गोलियां दागना शुरू कर दिया। थाना सिटी ने मंटा के बयान पर कांग्रेसियों के साठ अज्ञात वर्करों पर मामला दर्ज किया है। एसएसपी फाजिल्का कह रहे हैं कि विधायक व उनके बेटे के खिलाफ कोई मामला दर्ज नहीं किया गया है। जिन साठ वर्करों पर केस दर्ज किया गया है, उनकी पहचान की जानी है।

थाना सिटी पुलिस के एसआई मलकीत सिंह ने बताया कि कांग्रेसी नेता रमजीत सिंह पुत्र कुलदीप सिंह वासी गांव मंडी रोड़ा वाला ने बयान दिया कि कोर्ट परिसर में शांतिपूर्वक नामांकन पत्र भरने की प्रक्रिया चल रही थी। अकालियों ने वहां पहुंचते ही पथराव व गोलियां चलाना शुरू कर दिया। पुलिस ने पथराव व गोली चलाने के आरोप में अकाली दल के शहरी प्रधान अशोक अनेजा,  ट्रक यूनियन के पूर्व प्रधान जगसीर सिंह बब्बू जैमलावाला व मार्केट कमेटी के पूर्व चेयरमैन दविन्दर बब्बल समेत छह लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है। सभी आरोपी फरार हैं। 

Source link