HomeBeautyLiver Cure: लीवर को ठीक रखना है तो अपनी डाइट में इन...

Liver Cure: लीवर को ठीक रखना है तो अपनी डाइट में इन चीजों को शामिल करें और तंदुरूस्त रहें

हमारा लाइफस्टाइल ऐसा बन गया है कि हम लोग सिर्फ पेट भरने और स्वाद लेने के लिए खाते हैं। खाने में पौष्टिक तत्वों को हम लोगों ने नज़रअंदाज कर दिया है, और जंग फूड को अपनी डाइट में शामिल कर लिया है। हमारे खान-पान का सबसे ज्यादा असर हमारे लीवर पर देखने को मिलता है। कई बार हमारे शरीर में वसा का स्तर इतना अधिक बढ़ जाता है कि हमारा लीवर फैटी हो जाता है।

आप जानते है कि फैटी लीवर क्या है? लीवर में वसा की कुछ मात्रा का अधिक होना समान्य बात है, लेकिन जब वसा की मात्रा लीवर के भार से दस प्रतिशत अधिक हो जाती है तो आपका लीवर फैटी हो जाता है। ऐसी स्थिति में लीवर सामान्य रूप से काम करना बंद कर देता है और अनेकों लक्षण आपकी बॉडी में दिखने लगते हैं।

फैटी लीवर के लक्षण:

  • खाना हजम नहीं होना, जिसके कारण एसिडिटी रहती है
  • पेट के दाएँ भाग के ऊपरी हिस्से में दर्द होना
  • वजन का कम होना
  • कमजोरी महसूस करना
  • आँखों और त्वचा में पीलापन दिखाई देना
  • पेट में सूजन होना

आप भी अगर अपने में इस तरह के लक्षण महसूस कर रहे हैं तो हम आपको सलाह देते हैं कि आप सबसे पहले अपने खान-पान में सुधार करें। आपका खान-पान आपके फैटी लीवर के लिए जिम्मेदार है। आइए जानते है कि आप लीवर के फैटी होने पर अपनी डाइट कैसे प्लान कर सकते है।

खाने में फल और सब्जियों को शामिल करें।

  • अधिक फाइबर युक्त आहार का सेवन करें, जैसे फलियाँ और साबुत अनाज।
  • अधिक नमक, ट्रांसफैट, रिफाइन्ड कार्बोहाइड्रेट्स तथा सफेद चीनी का प्रयोग बिल्कुल बंद कर दें।
  • एल्कोहल या शराब का सेवन बिल्कुल न करें।
  • भोजन में लहसुन को शामिल करें यह फैट जमा होने से रोकता है।
  • ग्रीन टी का सेवन करें। शोध के अनुसार लीवर में जमा फैट को कम करती है तथा लीवर के कार्यकलाप को सुधारती है।
  • तले-भुने एवं जंक फूड से परहेज करें।
  • इन सब्जियों का प्रयोग ज्यादा करें जैसे पालक,ब्रोक्ली, करेला, लौकी, टिण्डा, तोरी, गाजर, चुकंदर, प्याज, अदरक तथा अंकुरित अनाज खाएँ।
  • राजमा, सफेद चना, काली दाल इन सब का सेवन बहुत कम करना चाहिए तथा हरी मूंग दाल और मसूर दाल का सेवन करना चाहिए।
  • मक्खन, मेयोनीज, चिप्स, केक, पिज्जा, मिठाई, चीनी इनका उपयोग बिल्कुल भी नहीं करना चाहिए।
  • नियमित रूप से प्राणायाम करें तथा सुबह टहलने जाएँ।

Must Read

spot_img
%d bloggers like this: