Harsimrat Kaur Badal बोली- किसानों की आवाज नहीं सुनी गई तो उन्होंने अपनी आवाज सुना दी

0
5


चंडीगढ़ः किसान आंदोलन में शामिल पंजाब की 32 किसान जत्थेबंदियों ने आज की मीटिंग में अहम फैसला लिया। बता दें कि किसान जत्थेबंदियों 11 दिसंबर को ढोल नगाड़ों के साथ अपने घर वापसी कर रहे हैं। इसके साथ ही किसानों को केंद्र की ओर से आधिकारिक चिट्ठी प्राप्त हो चुकी है। इसी बीच पूर्व केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर बादल ने किसानों को बधाई दी। उन्होंने कहा कि देश के किसानों की जीत हुई है। लोकतंत्र की आज जीत हुई है। जब किसानों की आवाज नहीं सुनी गई तो उन्होंने अपनी आवाज सुना दी। हरसिमरत कौर बादल ने कहा कि किसान आंदोलन में 10-10 महीने लोग अपने परिवारों से दूर रहे है। आज वो सब मुड़ कर वापिस जाएंगे। हिंदूस्तान के इतिहास में इमरजेंसी के बाद इतना बड़ा आंदोलन हुआ है। 



Source link