HomeNationalGovernment will hold talks with protesting farmers today| Farmers Protest: सरकार आज...

Government will hold talks with protesting farmers today| Farmers Protest: सरकार आज सुनेगी किसानों के ‘मन की बात’? निकलेगा विवाद का हल!

नई दिल्ली: नए कृषि कानूनों (Agricultural Law) के विरोध में किसान दिल्ली के बॉर्डर पर विरोध प्रदर्शन (Farmers Protest) कर रहे हैं. वे केंद्र सरकार से तीन कृषि कानूनों को रद्द करने की मांग कर रहे हैं और इनकी जगह नए कानून लाने को कह रहे हैं.किसानों ने दिल्ली की सीमाओं को सील करने की चेतावनी भी दे दी है. इसी बीच सरकार ने किसानों को वार्ता का न्योता देकर उनके  ‘मन की बात’ की बात सुनने का न्योता दिया है. 

किसानों के हित में हैं नए कृषि कानून- पीएम मोदी
इस बीच वाराणसी से प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (Narendra Modi) ने किसानों को संदेश देते हुए नए कृषि कानूनों (Agricultural Law) को किसानों के हित में बताया है. उन्होंने विपक्षियों पर किसानों को कृषि कानून के खिलाफ भ्रमित करने का आरोप भी लगाया. इस मुद्दे पर सरकार ने आज किसानों को बातचीत करने के लिए आमंत्रित किया है. कृषि मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर (Narendra Singh Tomar)  ने खुद इस बात का एलान किया. ऐसे में सबकी नजर है कि क्या बातचीत के जरिए किसानों की समस्या का समाधान निकल आएगा और ये आंदोलन खत्म हो जाएगा. 

ये भी पढ़ें- किसानों ने ठुकराई PM Modi की बात, बोले- ‘बहुत राशन-पानी लाए हैं, पीछे नहीं हटेंगे’

सर्दी-कोरोना को देखते हुए किसानों को दिया आमंत्रण
कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा कि सर्दी का मौसम और कोविड महामारी चल रही है. ऐसे में हमने आंदोलन कर रहे किसानों (Farmers Protest) को 3 दिसंबर से पहले आमंत्रित करने का फैसला किया. उन्होंने संकेत दिया कि सरकार किसानों की मांग पर विचार करने के लिए तैयार है. 

LIVE TV

वार्ता से आज निकलेगा कोई समाधान?
किसानों के साथ आज होने वाली वार्ता शाम 3 बजे विज्ञान भवन में शुरू होगी. इससे पहले किसानों को तीन दिसंबर को बातचीत का आमंत्रण दिया गया था. गृह मंत्री अमित शाह ने किसानों से दिल्ली बॉर्डर के इलाके छोड़कर बुराड़ी मैदान जाने की अपील की थी. लेकिन किसानों (Farmers Protest) ने बुराड़ी को ओपन जेल बताते हुए वहां जाने से इनकार कर दिया था. किसान फिलहाल दिल्ली के जंतर मंतर पर प्रदर्शन करने के मांग पर अड़े हैं. किसान यूनियनों ने वार्ता के लिए शर्त रखने का भी विरोध किया था. 

वार्ता के न्योते से किसान खुश
फिलहाल सरकार की ओर से आज वार्ता के लिए निमंत्रण से किसान खुश हैं. लेकिन किसानों के मुताबिक उनकी मांगें तभी पूरी होंगी जब सरकार तीनों कृषि बिलों को रद्द कर देगी. साथ ही MSP पर फसल खरीदने का कानून बनाएगी. लेकिन इसके साथ ही उन्होंने आज फिर दिल्ली कूच का ऐलान किया है. जिसके बाद बॉर्डर के इलाकों में सुरक्षा बढ़ा दी गई है.

बातचीत के नतीजों पर टिकी लोगों की निगाहें
इस निमंत्रण से पहले किसानों (Farmers Protest) ने दिल्ली की सीमाओं को जाम करने की चेतावनी दी थी. लेकिन सरकार की की तरफ से बातचीत का बुलावा मिलने के बाद अब नजरें इस बात पर टिकी हैं कि क्या आज की बातचीत से नए कृषि कानून पर सरकार और किसानों के बीच विवाद खत्म होगा या उसके बाद भी किसानों का आंदोलन जारी रहेगा.  



Source link

Must Read

spot_img
%d bloggers like this: