पंजाब में ड्रोन से हथियार गिराने का पर्दाफाश होने से सुरक्षा बल सतर्क, जमीन से आसमान तक रेड अलर्ट

0
76

राज्य ब्यूरो, जम्मू जम्मू-कश्मीर में खून खराबा करने के लिए पंजाब में ड्रोन से हथियार पंजाब में गिराने की साजिश का पर्दाफाश होने के बाद सेना और सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) रेड अलर्ट पर हैं। सुरक्षाबल अब जमीन से आसमान तक कड़ी चौकसी बरत रहे हैं। दुश्मन अपनी साजिश को जम्मू कश्मीर में भी दोहरा सकता है। ऐसे में सेना और बीएसएफ जमीन तो वायुसेना आसमान से दुश्मन के मंसूबों को नाकाम बनाने के लिए पूरी तरह तैयार है।

जम्मू कश्मीर के दौरे पर आए राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल ने भी गुरुवार को सेना, सुरक्षा बलों को निर्देश दिए कि दुश्मन बड़े पैमाने पर घुसपैठ करवाने की साजिश रच रहा है। ऐसे में सुरक्षा को पुख्ता बनाने में कोई कसर न छोड़ी जाए। गत दिनों थलसेना अध्यक्ष जनरल बिपिन रावत ने भी कहा था कि पाकिस्तान ने बालाकोट में आतंकी प्रशिक्षण शिविर सक्रिय कर दिया है और सीमा पार करीब 500 आतंकी घुसपैठ करने की ताक में हैं।

छह सुरंगों का हुआ पर्दाफाश

जम्मू में दुश्मन घुसपैठ करने के लिए अंतरराष्ट्रीय सीमा (आइबी) पर सुरंग खोदने की कई वर्षो से कोशिश कर रहा है। ऐसे में बीएसएफ सुरंग निरोधी मुहिम छेड़कर जम्मू संभाग में आइबी के चप्पे-चप्पे को खंगाल रही है। सभी संवेदनशील इलाकों में बीएसएफ जेसीबी और ट्रैक्टरों की सहायता से फें¨सग से सटे इलाकों को खोदकर रही है कि कहीं कोई सुरंग तो नहीं है। अब तक आइबी पर ऐसी छह सुरंगों का पर्दाफाश किया जा चुका है।

पंजाब से सटी सीमा पर पहुंचे बीएसएफ डीजी

सेना, सुरक्षाबलों ने कठुआ से जम्मू के अखनूर तक आइबी और इसके आगे नियंत्रण रेखा पर जवानों को निर्देश दिए हैं कि उच्चतम स्तर की सर्तकता बरत कर दुश्मन को मात दी जाए। इसी बीच बीएसएफ डीजी वीके जौहरी ने पठानकोट का दौरा कर क्षेत्र और साथ लगते जम्मू कश्मीर के इलाकों के सुरक्षा हालात का जायजा लिया और सैनिकों का हौसला बढ़ाया।

कठुआ के 52 स्कूलों को बंद रखने के आदेश

सूत्रों के अनुसार पाकिस्तान की ओर से गोलाबारी की जा सकती है। ऐसे में कठुआ के मढ़ीन और हीरानगर शिक्षा जोन के 52 स्कूलों को शुक्रवार को जिला शिक्षा अधिकारी ने बंद रखने के आदेश दिए हैं। जिला के मुख्य शिक्षा अधिकारी प्रेमनाथ ने कहा कि एहतियान पाक की ओर से गोलाबारी की आशंका को देखते हुए कदम उठाया है।