Farmers Protest: Farmers are refrain on their demands, they have denied govts food, brought food with them | Farmers Protest: किसान संगठनों ने कहा- सरकार कानून रद्द करे, तभी खत्म होगा आंदोलन

0
8

नई दिल्ली: नए कृषि कानूनों (Farm Bill 2020) को लेकर केंद्र सरकार और किसानों के बीच बीते 7 घंटे से दिल्ली में बातचीत जारी है. सूत्रों के हवाले से खबर आ रही है कि किसान नेताओं ने सरकार से साफ-साफ कह दिया है कि कि स्तिथि हमारे कंट्रोल से बाहर हो चुकी है. अब किसानों को समझाना हमारे हाथ में नहीं है. किसान नेताओं का कहना है कि ये आंदोलन अब सिर्फ किसानों का नहीं रहा ये जन आंदोलन बन चुका है. किसानों ने साफ-साफ कह दिया है कि सरकार को कानून रद्द करना होगा, तभी आंदोलन खत्म होगा. यहां पढ़ें लेटेस्ट अपडेट…

– किसानों ने 10 पेज का ड्राफ्ट तैयार किया है. केंद्र सरकार की तरफ से भी प्रेजेंटेशन दिया गया है. बैठक में 40 संगठनों के किसान नेता शामिल हैं. इस बीच जानकारी मिल रही है कि वाणिज्य मंत्री पीयूष गोयल (Piyush Goyal) ने किसानों से बातचीत की जानकारी गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) को दी है. 

– सूत्रों का कहना है कि बातचीत में किसानों के तेवर तल्ख हैं. किसान अपनी मांगों पर अड़े हुए हैं. किसानों ने सरकार का दिया खाना खाने से भी इनकार कर दिया है, वो अपना खाना साथ लेकर आए हैं. किसानों का कहना है कि वो सरकार से अपनी मांगें मनवाकर रहेंगे.

ये भी पढ़ें- Farmers Protest LIVE: किसान नेताओं के तेवर तल्ख, 10 पेज का ड्राफ्ट सौंपा

– बता दें कि नए कृषि कानूनों का विरोध कर रहे किसानों के प्रदर्शन (Farmers Protest) का आज 8वां दिन है. सिंघु, टिकरी और दिल्ली-यूपी बॉर्डर पर हजारों की तादाद में किसान डेरा जमाए हुए हैं. विरोध की लड़ाई अब अवॉर्ड और सम्मान वापसी तक पहुंच गई है.  

प्रकाश सिंह बादल ने लैटाया पद्म विभूषण सम्मान
कभी एनडीए का हिस्सा रहे शिरोमणि अकाली दल के वरिष्ठ नेता प्रकाश सिंह बादल ने भारत सरकार से मिले पद्म विभूषण सम्मान को वापस कर दिया है. प्रकाश सिंह बादल ने लिखा है, ‘मैं इतना गरीब हूं कि किसानों के लिए कुर्बान करने के लिए मेरे पास कुछ और नहीं है, मैं जो भी हूं किसानों की वजह से हूं. ऐसे में अगर किसानों का अपमान हो रहा है, तो किसी तरह का सम्मान रखने का कोई फायदा नहीं है.’

ये भी पढ़ें- Farmers Protest: Delhi-Noida जाने वालों की मुश्किलें बढ़ीं, NH-24 रोड पर ऐसे हैं हालात

कैप्टन ने मांगा PM से मिलने का समय
इधर, पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मिलने का वक्त मांगा है. इससे पहले उन्होंने गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात की. कैप्टन अमरिंदर ने गृह मंत्री से हुई मुलाकात पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा, ‘मैं समस्या का समाधान नहीं कर सकता. किसान आंदोलन से राष्ट्रीय सुरक्षा को खतरा है. किसान आंदोलन का पंजाब की अर्थव्यवस्था पर बुरा असर पड़ रहा है. किसान आंदोलन का समाधान जल्द निकलना चाहिए. मैंने अपनी बात गृह मंत्री के सामने रख दी है.’



Source link