Farmers Continue To Burn Stubble In Their Fields, Visuals From Ghari Mandi In Punjab – पंजाब में नहीं थम रहा पराली जलाने का सिलसिला, इस साल 280 फीसदी की बढ़ोतरी

0
130


न्यूज डेस्क, अमर उजाला, चंडीगढ़

Updated Fri, 16 Oct 2020 06:01 PM IST

                    खेतों में पराली जलाने का सिलसिला जारी।
                                <span>- फोटो : ANI </span>
                </p><div style="display: block"> 

<div class="epaper_pic"> 

    <a href="https://epaper.amarujala.com?utm_source=au&amp;utm_medium=article&amp;utm_campaign=esubscription"> &#13;




</div> 

<div class="image-caption"> 

    <h3>पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर <br/>&#13;


कहीं भी, कभी भी।

    <p>*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!</p>  



</div> 
ख़बर सुनें

सरकार की तमाम कोशिशों के बावजूद पंजाब में कुछ किसान खेतों में पराली जलाने में जुटे हुए हैं। ताजा तस्वीरें पंजाब के अमृतसर के घरी मंडी की हैं। इन तस्वीरों में किसान अपने खेतों में पराली जला रहे हैं। बता दें कि पंजाब में पराली जलाने के मामलों में इस बार पिछले साल के मुकाबले 280 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है।

सरकारी आंकड़ों के मुताबिक पिछले साल पंजाब में 21 सितंबर से 12 अक्तूबर तक 775 पराली जलाने की घटनाएं हुई थीं जो इस साल 2,873 तक पहुंच गई हैं। वहीं, हरियाणा में 25 सितंबर से 14 अक्तूबर तक 1386 से अधिक जगहों पर पराली जलाई जा चुकी है।  

हरियाणा के 1386 जगह जलाईं पराली 

हरियाणा में 25 सिंतबर से 14 अक्तूबर तक 1386 से अधिक जगहों पर पराली जलाई जा चुकी है। इसके लिए सरकार ने किसानों के चालान करने भी शुरू कर दिए हैं। किसानों की इस हरकत पर सैटेलाइट से नजर भी रखी जा रही है। सरकार को यही चिंता सता रही है कि पराली जलाने का यह सिलसिला यदि दिवाली तक यूं ही चलता रहा तो प्रदेश की आबोहवा पर बहुत बुरा असर पड़ेगा।

सरकार की तमाम कोशिशों के बावजूद पंजाब में कुछ किसान खेतों में पराली जलाने में जुटे हुए हैं। ताजा तस्वीरें पंजाब के अमृतसर के घरी मंडी की हैं। इन तस्वीरों में किसान अपने खेतों में पराली जला रहे हैं। बता दें कि पंजाब में पराली जलाने के मामलों में इस बार पिछले साल के मुकाबले 280 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है।

सरकारी आंकड़ों के मुताबिक पिछले साल पंजाब में 21 सितंबर से 12 अक्तूबर तक 775 पराली जलाने की घटनाएं हुई थीं जो इस साल 2,873 तक पहुंच गई हैं। वहीं, हरियाणा में 25 सितंबर से 14 अक्तूबर तक 1386 से अधिक जगहों पर पराली जलाई जा चुकी है।  

हरियाणा के 1386 जगह जलाईं पराली 
हरियाणा में 25 सिंतबर से 14 अक्तूबर तक 1386 से अधिक जगहों पर पराली जलाई जा चुकी है। इसके लिए सरकार ने किसानों के चालान करने भी शुरू कर दिए हैं। किसानों की इस हरकत पर सैटेलाइट से नजर भी रखी जा रही है। सरकार को यही चिंता सता रही है कि पराली जलाने का यह सिलसिला यदि दिवाली तक यूं ही चलता रहा तो प्रदेश की आबोहवा पर बहुत बुरा असर पड़ेगा।





Source link