Delhi slum dwellers people will soon their home, announces Delhi CM Kejriwa l जल्द बदलेगी दिल्ली की झुग्गियों में रहने वाले लोगों की किस्मत, मिलेंगे पक्के मकान

0
75

नई दिल्लीः दिल्ली की केजरीवाल सरकार दिल्ली में रहने वाले बेघर लोगों को जल्द ही फ्लैट आवंटन की प्रक्रिया शुरू करेगी. मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने इस संबंध में आज अपने आवास पर शहरी विकास मंत्री सतेंद्र जैन (Satyendra Jain) और डूसिब के अधिकारियों के साथ महत्वपूर्ण समीक्षा बैठक की. सीएम ने डूसिब को निर्देश दिया कि अभी तक जितने फ्लैट बन चुके हैं, उन फ्लैट्स को पात्र झुग्गी में रह रहे लोगों को जल्द से जल्द आवंटित कर दिया जाए.

मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को यह भी सुनिश्चित करने के निर्देश दिए कि झुग्गी में रहने वाले लोगों को हर हाल में पांच किलोमीटर के दायरे में ही फ्लैट बना कर दिए जाएं. यदि कहीं पर जमीन प्राप्त करने में अड़चन आ रही है, तो उन सभी बांधाओं को शीघ्र दूर किया जाए और जल्द से जल्द जमीन चयन की प्रक्रिया पूरी की जाए, ताकि बेघर लोगों को ‘जहां झुग्गी, वहीं मकान’ जल्द से जल्द दिया जा सके.

ये भी पढ़ें- JEE Main Exam 2021 Updates: अब से हर साल 4 बार होंगे JEE एग्जाम, जानिए पूरा शेड्यूल

बेघरों को घर देने को तैयार दिल्ली सरकार
सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि ‘जहां झुग्गी, वहीं मकान’ पॉलिसी दिल्ली सरकार की प्रमुख पॉलिसी में से एक है. हमें यह सुनिश्चित करना होगा कि बेघर लोगों के लिए फ्लैट्स का निर्माण समय सीमा के अंदर पूरा कर लिया जाए, ताकि उन्हें आश्रय प्रदान किया जा सकें. साथ ही किसी कीमत पर झुग्गी से पांच किलोमीटर के दायरे में ही मकान मिले.

ये भी पढ़ें-हम RSS के हिंदू धर्म को नहीं मानते, बीजेपी के साथ युद्ध करेंगे: ममता बनर्जी

दिल्ली में बेघरों के लिए बनेंगे 89,400 फ्लैट 
गौरतलब है कि इससे पहले मुख्यमंत्री ने नवंबर महीने में शहरी विकास मंत्री और डूसिब अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की थी. उस दौरान डूसिब के अधिकारियों ने मुख्यमंत्री के सामने बेघर लोगों को फ्लैट बना कर देने से लेकर उसमें शिफ्ट करने तक का पूरा खाका पेश किया था. सीएम अरविंद केजरीवाल ने बेघर लोगों को फ्लैट में शिफ्ट करने की योजना को मूर्त रूप देने देने के लिए स्पष्ट दिशा निर्देश दिए थे. बेघर लोगों के लिए तीन चरणों में 89,400 फ्लैट बनाने का निर्णय लिया गया है. यह फ्लैट 237 एकड़ भूमि में बनाए जाएंगे. 

ये भी पढ़ें-घायल होने के 8 दिन बाद Indian Army के जवान Amit Sahebrao Patil की मौत

तीन चरणों में होगा फ्लैटों का निर्माण
दिल्ली सरकार पहले चरण में 41,400 फ्लैट बनाएगी. यह 41,400 फ्लैट दिल्ली सरकार के पास वर्तमान में उपलब्ध खाली जमीन पर बनाए जाएंगे. दूसरे चरण में 18,000 फ्लैट बनाए जाएंगे. इसके लिए दिल्ली सरकार के पास जो जमीन उपलब्ध है, अभी उस जमीन का लैंड यूज दूसरी कटेगरी में है, इसलिए सरकार एमसीडी से पहले उस जमीन का लैंड यूज बदलवाएगी और इसके बाद इन फ्लैट्स का निर्माण कराएगी. वहीं, दो चरणों में तैयार किए गए 59,400 फ्लैट में पहले बेघर लोगों को शिफ्ट किया जाएगा. उनके शिफ्ट होने के बाद जो जमीन खाली होगी, उसमें तीसरे चरण के तहत 30,000 फ्लैट बनाए जाएंगे. तीनों चरण में फ्लैट निर्माण का कार्य 2022 से 2025 तक पूरा कर लिया जाएगा.

ये भी पढ़ें-Kerala Local Body Election Result 2020: Kochi में BJP ने जीता मुकाबला, 1 वोट से कांग्रेस प्रत्याशी की हार

इस तरह के होंगे सरकारी फ्लैट्स 
दिल्ली सरकार द्वारा बनाए जाने वाले सभी फ्लैट बहुमंजिला होंगे. इसका एफएआर 400 और प्रति हेक्टेयर घनत्व 900 डी.यू. होगा. प्रत्येक 8000 घरों में पांच अलग-अलग टेंडर होंगे. ईपीसी अनुबंध और काम के आवंटन के लिए निविदाएं ली जाएंगी. यह प्रक्रिया 31 मार्च 2021 तक पूरी कर ली जाएगी. जिस एजेंसी को फ्लैट निर्माण की जिम्मेदारी सौंपी जाएगी, उसे अनुबंध के 24 महीने यानि 31 मार्च 2023 तक निर्माण कार्य पूरा करना होगा. इन फ्लैटों की अनुमानित लागत करीब 3312 करोड़ रुपए है और प्रत्येक फ्लैट को बनाने में करीब 8 लाख रुपए खर्च किए जाएंगे.

 



Source link