Coronavirus: Amit shah holds meeting with officials to review vaccination progress | कोरोना के मामलों ने बढ़ाई चिंता, गृह मंत्री अमित शाह ने अधिकारियों को दिए ये निर्देश

0
17

नई दिल्ली: देश में कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों ने सरकार की चिंता बढ़ा दी है. इस बीच केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने कुछ राज्यों में कोरोना वायरस (Coronavirus) संक्रमण के मामलों में आई अचानक बढ़ोतरी को देखते हुए सोमवार को देश में कोविड-19 स्थिति की समीक्षा की. समीक्षा बैठक में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन, गृह सचिव अजय भल्ला और दोनों मंत्रालयों के शीर्ष अधिकारी शामिल थे. 

अमित शाह ने अधिकारियों के साथ की बैठक 

गृह मंत्रालय के एक अधिकारी ने बताया कि गृह मंत्री ने देश में कोरोना वायरस की स्थिति की समीक्षा की खासकर उन राज्यों की जहां हाल के समय में मामलों में बढ़ोतरी देखी गई. अधिकारी ने बताया कि बैठक में जारी टीकाकरण प्रक्रिया और वायरस के और प्रसार पर लगाम लगाने के लिए आवश्यक कदमों पर चर्चा की गई.

ये भी पढ़ें- इस शहर के लोगों पर महंगाई की दोहरी मार! ऑटो-टैक्सी के किराये में हुई जबरदस्त बढ़ोतरी

5 राज्यों में अचानक बढ़े कोरोना के मामले

बता दें कि महाराष्ट्र, केरल, पंजाब, छत्तीसगढ़ और मध्य प्रदेश जैसे राज्यों में कोविड-19 के मामलों में अचानक बढ़ोतरी की खबरें सामने आई हैं. महाराष्ट्र में कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर की आशंका और केरल में बढ़ते मामलों से देश में महामारी की स्थिति गंभीर होती जा रही है. लगातार दूसरे दिन सोमवार को 14 हजार से ज्यादा नए मामले सामने आए और सक्रिय मामलों की संख्या बढ़कर डेढ़ लाख के पार चली गई. हालांकि राहत की बात ये है कि कोरोना की वजह से मौतों का दैनिक आंकड़ा 100 से नीचे बना हुआ है.

इस शहर में लगा लॉकडाउन

कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच राज्य सरकारों ने एहतियाती कदम उठाने शुरू कर दिए हैं. दिल्ली में इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे पर बाहर से आने वालों की जांच तेज कर दी गई है. महाराष्ट्र के अमरावती में सोमवार से हफ्तेभर के लिए लॉकडाउन लगा दिया गया है. 

इन दो राज्यों में सबसे ज्यादा मामले

केंद्रीय स्वास्थ्य द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक, देश में कोरोना के सक्रिय मामलों की संख्या बढ़कर 1,50,055 हो गई है, जो कुल मामलों का 1.36 फीसद है. इनमें 74 फीसद सक्रिय मामले सिर्फ दो राज्यों महाराष्ट्र और केरल में हैं. अकेले महाराष्ट्र में 52,956 सक्रिय मामले हैं. 



Source link