China trying to blackout across India after Tata Power Grid Fail । साइबर अटैक की फिराक में चीन, मुंबई के बाद पूरे देश में ब्लैक आउट की साजिश

0
26

मुंबई: चीन (China) की एक और बड़ी साजिश सामने आई है. अक्टूबर 2020 में मुंबई में हुए ब्लैक आउट (Blackout) के पीछे चीन की साजिश थी. चीन ने इस हरकत के जरिए भारत पर दबाव बनाने की एक और नाकाम कोशिश की थी. अमेरिका की एजेंसी के हवाले से न्यूयॉर्क टाइम्स में छपी खबर में दावा किया गया है कि चीन मुंबई के बाद अब पूरे देश के पॉवर ग्रिड पर साइबर अटैक (Cyberattack) कर सकता है.

‘अभी भी साइबर अटैक की फिराक में’ 

एलएसी (LAC) पर जारी तनाव के बीच चीन (China) की बड़ी साजिश का खुलासा काफी अहम है. चीन भारत की पॉवर सप्लाई को निशाना बनाने की कोशिश कर रहा है. न्यूयॉर्क टाइम्स की खबर के मुताबिक चीन अभी भी भारत में पॉवर ग्रिड (Power Grid) पर साइबर अटैक (Cyberattack) करने की फिराक में है. मुंबई ब्लैक आउट  (Blackout) के जरिए चीन का मकसद भारत को चेताना था. चीन ने IT, बैंकिंग सेक्टर्स पर भी साइबर अटैक किया था. 

इतनी बार किया साइबर अटैक

ब्लैक आउट के दौरान स्टॉक मार्केट (Stock Market) से लेकर ट्रेनों की आवाजाही पर भी असर पड़ा था. उस दौरान पांच दिनों के अंदर भारत के पॉवर ग्रिड, आईटी कंपनियों और बैंकिंग सेक्टर्स पर 40500 बार साइबर अटैक किया गया था. युद्धस्तर पर ग्रिड की गड़बड़ी ठीक कर बिजली बहाल की गई थी. 

टाटा पॉवर ग्रिड में हुई थी खराबी

12 अक्टूबर 2020 को मुंबई (Mumbai) में अचानक बिजली गुल हुई थी. बिजली आपूर्ति बाधित होने के कारण आवश्यक सेवाएं भी बाधित हुई थीं. बिजली कटौती के कारण जुहू, अंधेरी, मीरा रोड, नवी मुंबई, ठाणे और पनवेल इलाके सबसे अधिक प्रभावित हुए थे. कई इलाकों में पेट्रोल पंप, ठाणे के सारे पंपिग स्टेशन बंद हो गए थे. मुंबई यूनिर्विसिटी के केसी कॉलेज की परीक्षा रद्द कर दी गई थी. बॉम्बे हाईकोर्ट में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से सुनवाई रोक दी गई थी. कई घंटों हाहाकार के बाद विद्युत आपूर्ति बहाल हो सकी थी. विद्युत कटौती का कारण TATA से आने वाली बिजली की आपूर्ति में दिक्कत के कारण बताया गया था. 

यह भी पढ़ें: Corona Vaccine के लिए रजिस्ट्रेशन App से करें या पोर्टल से? कन्फ्यूजन के बीच सरकार ने दी अहम जानकारी

मुंबई को रोजाना कितनी बिजली की जरूरत?

बता दें, मुंबई में राज्य सरकार द्वारा संचालित BEST, अडानी इलेक्ट्रिसिटी और टाटा पॉवर सप्लाई सहित कई ऑपरेटर हैं. अडानी बिजली कंपनी ने 500 मेगावाट का बिजली प्लांट शुरू किया है जिसकी सप्लाई मुंबई को की जाती है. मुंबई को रोजाना 1600 से 1700 मेगावाट बिजली की जरूरत होती है. ऐसे में मुंबई को 1000 से 1100 मोगावाट बिजली की कमी होती है. अब तक अधिक लोड को ही ब्लैक आउट का कारण माना जा रहा था लेकिन अब इसके पीछे चीन की साजिश कई गंभीर सवाल खड़े कर रही है.

LIVE TV



Source link