Capt. Amarinder की पार्टी गठित होने के बाद ही गठबंधन पर होगा फैसला: भाजपा

0
2


नई दिल्ली : भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने कहा है कि पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह द्वारा पार्टी गठन के बाद ही भाजपा उनके साथ गठबंधन करने को लेकर कोई फैसला करेगी।

भाजपा महासचिव एवं पंजाब के प्रभारी दुष्यंत गौतम ने बुधवार को यूनीवार्ता से कहा कि जो भी‘राष्ट्रवादी’विचारधारा से जुड़े हैं, उनसे भाजपा हाथ मिलाने के लिए तैयार है। उन्होंने कहा कि किसी भी राष्ट्रवादी सोच वाले के साथ गठबंधन करके हमें खुशी महसूस होगी। 


गौतम की टिप्पणी कैप्टन सिंह की उस घोषणा के बाद आई है, जिसमें उन्होंने कांग्रेस से अलग होकर अपना राजनीतिक दल गठित करने की बात कही है। कैप्टन सिंह ने कहा है कि वह अपनी पार्टी बनाएंगे और भाजपा तथा अन्य समान विचारधारा वाले दलों से अलग हो चुके अकाली समूहों, विशेष रुप से ढींडसा और ब्रह्मपुरा गुटों के साथ गठबंधन करेंगे। गौतम ने कहा, भाजपा सरकार बनाने के लिए राजनीति नहीं करती, हम जनता की सेवा के लिए राजनीति करते हैं। यह लड़ाई राष्ट्रवाद बनाम परिवारवाद के बीच की है। 


उन्होंने कहा, कैप्टन सिंह ने संकेत दिये हैं कि वह हमारे साथ गठबंधन करेंगे। हम उनकी पार्टी बनने के बाद ही गठबंधन के बारे में सोचेंगे। दोनों दलों के लोग बैठकर चर्चा करेंगे। हमारी अपनी शर्तें हैं, हम राष्ट्रवादी हैं, जो भी हमारे साथ गठबंधन करना चाहते हैं उनका राष्ट्रवाद के बैनर तले स्वागत है।  भाजपा पंजाब प्रभारी ने कहा कि भाजपा के पास एक संसदीय बोर्ड है जहां हर मुद्दे पर चर्चा होती है और उसके अनुसार निर्णय लिए जाते हैं। उन्होंने कहा कि एक तरफ राष्ट्रवाद है, दूसरी तरफ वंशवाद की राजनीति है, दोनों में फर्क है। जो कोई भी देश से प्यार करता है, सीमा और आंतरिक सुरक्षा को मजबूत करने में हमारी मदद करता है, उसका स्वागत है। 


गौतम ने कहा , आज ध्रुवीकरण है, एक तरफ राष्ट्रवादी ताकतें हैं, दूसरी तरफ वंशवाद का साथ देने वाले भी हैं। वे परिवार को बचाने के लिए अंतरराष्ट्रीय साजिश में लिप्त हैं। वे पाकिस्तान के साथ बैठते हैं और कहते हैं कि हमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को हटाना है। दूसरी तरफ हमारे कार्यकर्ता देश के लिए मरते हैं। उल्लेखनीय है कि कैप्टन सिंह ने कहा था कि वह पंजाब विधानसभा चुनाव में भाजपा के साथ सीट समझौते को लेकर आशान्वित हैं, अगर भाजपा की केंद्र सरकार किसानों की मांगों का कोई समाधान निकालती है। 

किसानों के विरोध के बारे में पूछे जाने पर गौतम ने कहा कि सरकार इसका समाधान ज़रुर निकालेगी। उन्होंने कहा हम यहां किसानों के मुद्दे को हल करने के लिए बैठे हैं। हमने पहले ही 11 बैठकें की हैं। भाजपा से ज्यादा किसानों के बारे में कौन सोचता है? सरकार ने किसान क्रेडिट कार्ड दिए हैं, प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना चलाई है। सरकार बढ़े हुए न्यूनतम समर्थन मूल्य पर उत्पाद की खरीद रही है। क्या कोई हमसे ज्यादा किसानों की परवाह कर सकता है?  उन्होंने कहा, आज हमें सबसे अधिक किसानों के वोट मिल रहे हैं, ये तथाकथित राजनीतिक रुप से जुटाए गए किसान जो आप देखते हैं, जो दलितों के हाथ काटते हैं, महिलाओं के साथ दुष्कर्म और बेकसूरों की हत्या करते हैं , ऐसे लोग किसान आंदोलन की आड़ लेकर अराजकता फैला रहे हैं। 



Source link