7 newly infected in Sangrur and 10 in Barnala, 32 cured in both districts | संगरूर में 7 और बरनाला में 10 नए संक्रमित, दोनों जिलों में 32 ठीक हुए

0
26


संगरूर15 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक
  • संगरूर के लिए राहत, एक्टिव केस हुए 115

वीरवार को जिले में कोरोना से किसी भी मरीज की मौत नहीं हुई है। हालांकि पिछले दो दिनों में चार कोरोना मरीज दम तोड़ चुके हंै। वीरवार को कोरोना के सात नए मामले सामने आए है। जोकि पिछले ढाई माह में सबसे कम है। इसी सप्ताह इससे पहले 8 सबसे कम मामले पाए गए थे। कोरोना पॉजिटिव मरीजों में सबसे ज्यादा 3 संगरूर, जबकि धूरी, मूनक, फतेहगढ़ पंजगराईया व लौंगोवाल में 1-1 मरीज पॉजिटिव पाया गया है। अब जिले में कोरोना मरीजों की संख्या 3774 हो गई है। वीरवार को 12 मरीजों ने कोरोना को मात दी है। अबतक जिले में 3499 लोग कोरोना को मात दे चुके हैं। अब जिले में एक्टिव मरीजों की संख्या 115 रह गई है। जिनमें से एक की हालत गंभीर बनी हुई है। 30 लोगों की रिपोर्ट आनी अभी बाकी है।

महामारी काबू करने में जिलावासियों व सेहत टीमों को दिए सहयोग का बड़ा योगदान : डीसी

सोशल मीडिया लाइव के दौरान डीसी रामवीर ने कहा कि जिला संगरूर में कोरोना के केसों पर कंट्रोल करने में जिलावासियों का सेहत विभाग की टीमों को दिए सहयोग का बड़ा योगदान है। उन्होंने कहा कि एक सप्ताह में एक प्रतिशत से भी कम पॉजिटिव केस सामने आए हैं। यह आंकड़ा राहत देने वाला है। उन्होंने कहा कि त्योहारों के सीजन में सावधानियां बरतते हुए त्योहारों का आनंद लिया जाए। उन्होंने कहा कि जो किसान पराली को आग लगाने से गुरेज करते हुए आधुनिक संसाधनों का प्रयोग कर रहे हैं, वह उनका आभार व्यक्त करते हैं।

बरनाला में 10 नए मरीज, 187 एक्टिव केस बचे

बरनाला| वीरवार को कोविड-19 के जिला बरनाला में 10 नए मामले सामने आए हैं। जबकि पहले के 20 मरीज ठीक हुए हैं। अब कुल मरीजों की संख्या 1965 हो गई है। इनमें से 187 एक्टिव केस हैं। नए आए मामलों में से 2 बरनाला, 5 तपा, 3 धनौला से हैं। जिले में एक्टिव केसों की संख्या में बरनाला में 93, तपा में 51, धनौला 27, महलकलां के 16 शामिल हैं। जिले में 111 लोग अपने घरों में एकांतवास में हैं, जबकि 79 लोग जिले के बाहर अस्पतालों में अपना इलाज करवा रहे हैं। सिविल अस्पताल बरनाला के एसएमओ डॉक्टर ज्योति कौशल ने कहा की कोविड-19 का प्रकोप लगातार कम हो रहा है। एक्टिव केसों की संख्या लगातार नीचे आ रही है। फिर भी हमें सावधानी रखने की जरूरत है।



Source link