30 Year Old Man Commits Suicide In Kapurthala Of Punjab – छह माह से नहीं मिला काम तो युवक ने नदी में कूदकर दी जान, पांच माह पहले हुई थी बेटी

0
125


संवाद न्यूज एजेंसी, ढिलवां (कपूरथला)

Updated Sat, 17 Oct 2020 12:31 AM IST

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर


कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें

छह माह से कोई काम न मिलने पर पांच माह की बच्ची के पिता ने बुधवार को ब्यास नदी में छलांग लगाकर जान दे दी। मृतक के पहचान सुरजीत सिंह (30) पुत्र जसविंदर सिंह निवासी मोहल्ला रामू की पत्ती ढिलवां के रूप में हुई है। बताया जा रहा है कि युवक बीते बुधवार को बिना बताए घर से चला गया था। 

परिजनों ने पुलिस में शिकायत दर्ज करवाई थी, तब से पुलिस उसकी खोजबीन कर रही है। वहीं मृतक का शव ढिलवां पुलिस ने धार्मिक स्थान के गोताखोर सेवादारों की मदद से ब्यास नदी के पुल के नीचे से बरामद किया है।

मृतक सुरजीत के पिता ने बताया कि मार्च माह में लॉकडाउन के चलते जिस निजी फैक्ट्री में उसका बेटा काम करता था। वह फैक्ट्री बंद हो गई थी। उसके बाद से मेरा बेटा बेरोजगार था। बीते बुधवार की सुबह 11 बजे बिना बताए घर से चला गया। उसको ढूंढने का प्रयास किया, परंतु वह कहीं नहीं मिला। पहले फोन पहुंच से दूर बता रहा था फिर स्विच ऑफ आने लगा। 

पुलिस को सूचना दी गई, जब पुलिस खोजबीन करते हुए ब्यास नदी किनारे पहुंची तो वहां से चप्पलें बरामद हुई। गोताखोरों को नदी में उतारा गया, लेकिन कुछ भी पता नहीं चला। शुक्रवार को पुलिस ने धार्मिक स्थान के निजी गोताखोर मंगवाए। उन्होंने शव को पुल के नीचे से निकाला। जांच अधिकारी बलविंदर सिंह ने बताया कि मृतक के पिता जसविंदर सिंह के बयान पर केस दर्ज कर लिया गया है। शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया।

छह माह से कोई काम न मिलने पर पांच माह की बच्ची के पिता ने बुधवार को ब्यास नदी में छलांग लगाकर जान दे दी। मृतक के पहचान सुरजीत सिंह (30) पुत्र जसविंदर सिंह निवासी मोहल्ला रामू की पत्ती ढिलवां के रूप में हुई है। बताया जा रहा है कि युवक बीते बुधवार को बिना बताए घर से चला गया था। 

परिजनों ने पुलिस में शिकायत दर्ज करवाई थी, तब से पुलिस उसकी खोजबीन कर रही है। वहीं मृतक का शव ढिलवां पुलिस ने धार्मिक स्थान के गोताखोर सेवादारों की मदद से ब्यास नदी के पुल के नीचे से बरामद किया है।

मृतक सुरजीत के पिता ने बताया कि मार्च माह में लॉकडाउन के चलते जिस निजी फैक्ट्री में उसका बेटा काम करता था। वह फैक्ट्री बंद हो गई थी। उसके बाद से मेरा बेटा बेरोजगार था। बीते बुधवार की सुबह 11 बजे बिना बताए घर से चला गया। उसको ढूंढने का प्रयास किया, परंतु वह कहीं नहीं मिला। पहले फोन पहुंच से दूर बता रहा था फिर स्विच ऑफ आने लगा। 

पुलिस को सूचना दी गई, जब पुलिस खोजबीन करते हुए ब्यास नदी किनारे पहुंची तो वहां से चप्पलें बरामद हुई। गोताखोरों को नदी में उतारा गया, लेकिन कुछ भी पता नहीं चला। शुक्रवार को पुलिस ने धार्मिक स्थान के निजी गोताखोर मंगवाए। उन्होंने शव को पुल के नीचे से निकाला। जांच अधिकारी बलविंदर सिंह ने बताया कि मृतक के पिता जसविंदर सिंह के बयान पर केस दर्ज कर लिया गया है। शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया।



Source link