सरवत सिहत बीमा कार्ड बनाने के लिए लोग सिविल अस्पताल के काट रहे चक्कर।

0
246

-पंद्रह-पंद्रह दिनों से इंतजार करने के बाद भी कोई नहीं पूछता-

एक ओर तो राज्य व केंद्र सरकार अयुषमान भारत व सर्वत बीमा योजना के तहत देश वासियों को पांच लाख तक का बीमारी ईलाज का बीमा किए जाने और सिविल अस्पतालों में मुफ्त पंजीकर्ण कराने के लिए बड़े बड़े ब्यान दाग सेमीनार करा रहे हैं वहीं जमीनी स्त्र पर स्थिति ये है कि असहाए लोगों को सिविल अस्पताल में पंद्रह-पंद्रह दिनों तक चक्कर काटने पर भी सहायता कक्ष में उनके कार्ड नहीं बन रहे।

संवाददाताओं से बातचीत करते हुए गांव जंगीयाना निवासी बलविंद्र सिंह पुत्र बलदेव सिंह ने बातचीत करते हुए बताया कि मैं गत कई दिनों से अपनी पत्नी व दो बच्चों के साथ लेकर सुबह से दुपहिर तक सिविल अस्पताल भदौड़ में सरबत सिहत बीमा योजना के कार्ड बनवाने के लिए आता रहा परंतु अस्पताल में बने सहायता केंद्र में किसी ने नही सुनी और अंत मुझे किसी निजी संस्थान पर जाकर रुपए देकर कार्ड बनवाने पड़े। सहायता केंद्र के बाहर खड़े गुरदेव सिंह पुत्र मोता सिंह व बजुर्ग महला गुरमेल कौर पत्नी स्वर्गीय दर्शन सिंह आदि ने भी बताया कि हम आयुषमान भारत सरबत सिहत बीमा योजना के लिए कार्ड बनवाने के लिए बीस बीस दिनों से सिविल अस्पताल में चक्कर लगा रहे हैं परंतु रोज हमें कल आना कह कर भेज दिया जाता है हमारा कार्ड नहीं बन रहा।

-इंचार्ज डाक्टर व डाटा आपरेटर-

लोगों को पेश आ रही उपरोक्त परेशानी के बारे में जब इंचार्ज डाक्टर प्रवेश कुमार व डाटा इंट्री व सहायता कक्ष में तैनात मैडम नेता गुप्ता नें बताया कि सरकार नें हमें आयुषमान भारत सरबत बीमा योजना के लिए पंजीकर्ण व कार्ड बनाने के लिए काम तो दे दिया है परंतु कोई अतिरिक्त कर्मचारी या सिस्टम स्थापित नहीं किया और अस्पताल में एक ही डाटा इंट्री आपरेटर मैडम नेहा गुप्ता हैं जो सारा अस्पताल का काम करते हैं और समय निकालकर अतिरिक्त सरबत सिहत बीमा योजना का कार्य भी कर रही हैं

भदौड़ से विजय जिंदल

आयुष्मान भारत सरबत बीमा योजना के पंजीकरण के लिए सिविल अस्पताल भदौड़ में इंतजार कर रहे लाभार्थी

आयुष्मान भारत सरबत बीमा योजना के पंजीकरण के लिए सिविल अस्पताल भदौड़ में इंतजार कर रहे लाभार्थी

आयुष्मान भारत सरबत बीमा योजना के पंजीकरण के लिए सिविल अस्पताल भदौड़ में इंतजार कर रहे लाभार्थी