रूस में कोरोना का टीकाकरण शुरू, पांच घंटे में इतने लोगों को लगा वैक्सीन

0
13

रूस में कोराना का टीकाकरण शुरू. (प्रतीकात्मक फोटो)

रूस में कोराना का टीकाकरण शुरू. (प्रतीकात्मक फोटो)

Coronavirus Vaccination in Russia: मास्को में कोरोना वैक्सीन वितरण के शुरूआती पांच घंटों में 5000 लोगों ने वैक्सीन के लिए साइन अप किया जिनमें शिक्षक (Teacher), डॉक्टर (Doctor), सामाजिक कार्यकर्ता (Social Activist) हैं और जो सब से ज्यादा आना जीवन जोखिम में डाल ले रहे हैं.


  • News18Hindi

  • Last Updated:
    December 5, 2020, 7:32 PM IST

मास्को. मास्को (Moscow) ने शनिवार को 70 क्लीनिकों के माध्यम से रूस द्वारा विकसित स्पुतनिक-V COVID -19 का टीका बांटना शुरू कर दिया है. मॉस्को की कोरोनोवायरस टास्क फोर्स (Coronavirus Task Force) ने कहा कि रूस में कोरोना की वैक्सीन (Corona Vaccine) का पहला सामूहिक टीकाकरण है. टास्क फोर्स ने बताया कि रूस निर्मित इस वैक्सीन को सबसे पहले डॉक्टरों और अन्य चिकित्साकर्मियों, शिक्षकों और सामाजिक कार्यकर्ताओं को उपलब्ध कराया जाएगा क्योंकि कोरोना बीमारी के संपर्क में आने का सबसे ज्यादा जोखिम इन्हीं लोगों को रहता है.

पांच घंटों में 5000 लोगों ने वैक्सीन के लिए साइन अप किया

मेयर सर्गेई सोबयानिन ने शुक्रवार को अपनी निजी वेबसाइट पर लिखा कि कोरोना वैक्सीन वितरण के शुरूआती पांच घंटों में 5000 लोगों ने वैक्सीन के लिए साइन अप किया जिनमें शिक्षक, डॉक्टर,  सामाजिक कार्यकर्ता हैं और जो सब से ज्यादा आना जीवन जोखिम में डाल ले रहे हैं. शॉट्स प्राप्त करने वालों की उम्र 60 वर्ष है. कुछ ख़ास तरह की स्वास्थ्य समस्याओं से जूझ रहे लोग, गर्भवती महिलाओं और जिन लोगों को पिछले दो सप्ताह से सांस की बीमारी है उन्हें फिलहाल टीकाकरण के लिए रोक दिया गया है.

अंतिम परीक्षण अभी बाकीरूस ने दो COVID-19 टीके विकसित किए हैं, पहला है स्पुतनिक V (Sputnik V) जो कि रूसी प्रत्यक्ष निवेश कोष द्वारा समर्थित है और एक अन्य जो साइबेरिया के वेक्टर इंस्टीट्यूट द्वारा विकसित किया गया है. इन दोनों का अंतिम परीक्षण अभी बाकी है. वैज्ञानिकों ने इस बात पर चिंता जताई है कि रूस ने जिस गति से काम किया है, उसके टीकों के लिए रेगुलेटरी के लिए तत्परता दिखाई और उसकी सुरक्षा और प्रभावकारिता का परीक्षण करने के लिए पूर्ण परीक्षणों से पहले ही बड़े पैमाने पर टीकाकरण शुरू कर दिया. स्पुतनिक वी वैक्सीन दो इंजेक्शनों में दी जाती है, दूसरी खुराक पहले के 21 दिन बाद दी जाती है.

शैक्षिक संस्थान में काम कर रहे कर्मचारी को पहले वैक्सीन लगेगी

शनिवार को तड़के एक प्राथमिक शिक्षक को एक फ़ोन संदेश मिला जिसमें लिखा था कि आप एक शैक्षिक संस्थान में काम कर रहे हैं और कोविड-19 वैक्सीन निःशुल्क प्राप्त करने के लिए सर्वोच्च प्रथमिकता रखते हैं.

ये भी पढ़ेंः नामिबिया में हाथियों की आबादी बढ़ी, चारा के अभाव में सरकार ने बेचने का लिया फैसला

अमेरिका में गांजे से जल्द हटेगा बैन, लोगों में खुशी की लहर 

मॉस्को रूस में कोरोना वायरस प्रकोप का केंद्र रहा है. रात भर में कोरोना के 7,993 नए मामले दर्ज किये गए जबकि एक दिन पहले यह आंकड़ा 6,868 था. सितंबर की शुरुआत में कोरोना के दैनिक मामलों का औसत 700 था.

Source link