बिना ड्राइवर के चलेगी मेट्रो, ऐसी पहली सर्विस को 28 दिसंबर को PM मोदी दिखाएंगे हरी झंडी

0
98

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 28 दिसंबर को देश की पहली पूर्ण-स्वचालित चालकरहित ट्रेन सेवा को दिल्ली मेट्रो की ‘‘मजेंटा लाइन’’ पर हरी झंडी दिखा कर रवाना करेंगे. दिल्ली मेट्रो रेल निगम (डीएमआरसी) ने गुरुवार को यह जानकारी दी. दिल्ली मेट्रो के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि नई पीढ़ी की इन ट्रेनों का वाणिज्यिक परिचालन एक बड़ी प्रौद्योगिकी उपलब्धि साबित होने वाला है. इन ट्रेनों का परिचालन कार्यक्रम के बाद शुरू होगा.

डीएमआरसी ने एक बयान में कहा, ‘‘प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 37 किलोमीटर लंबी मजेंटा लाइन पर देश की अब तक की पहली पूर्ण-स्वचालित चालकरहित ट्रेन सेवा को हरी झंडी दिखाएंगे और 23 किलोमीटर लंबी एयरपोर्ट एक्सप्रेस लाइन (नयी दिल्ली से द्वारका सेक्टर 21 तक) पर यात्रा के लिए पूरी तरह परिचालन वाले नेशनल कॉमन मोबिलिटी कार्ड (एनसीएमसी) को भी जारी करेंगे.’’

आज 9 करोड़ खातों में ट्रांसफर होंगे 18 हजार करोड़, 1 करोड़ किसानों को जुटाएगी BJP

डीएमआरसी के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि दोनों कार्यक्रमों, चालक रहित ट्रेन को हरी झंडी दिखाने और एयरपोर्ट एक्सप्रेस लाइन पर एनसीएमसी की शुरूआत वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से की जाएगी.

उन्होंने कहा, ‘‘यह पहला मौका होगा जब यात्री दिल्ली मेट्रो के किसी भी मार्ग पर एनसीएमसी का उपयोग कर पाएंगे.’’ प्रधानमंत्री मोदी ने मार्च 2019 में स्वदेश विकसित एनसीएमसी पेश किया था, ताकि लोग देश भर में मेट्रो और बस सहित विभिन्न प्रकार के परिवहन शुल्क का इसके जरिए भुगतान कर सकें.

एक देश, एक कार्ड

‘एक देश, एक कार्ड’ नाम से प्रसिद्ध एनसीएमसी कार्ड परिवहन के अनेक साधनों में मान्य कार्ड है जिससे देशभर में मेट्रो, बस सेवाओं के इस्तेमाल के लिए शुल्क अदा किया जा सकता है और टोल तथा पार्किंग आदि शुल्क का भुगतान भी किया जा सकता है.

दिल्ली मेट्रो की मजेंटा लाइन 37 किलोमीटर लंबी है और जनकपुरी पश्चिम से नोएडा के बॉटनिकल गार्डन मेट्रो स्टेशन के बीच है. चालक रहित ट्रेनें मजेंटा लाइन और पिंक लाइन पर परिचालित की जानी हैं. दिल्ली मेट्रो ने अपना वाणिज्यिक परिचालन 25 दिसंबर 2002 को महज 8.2 किमी लंबी शहादरा-तीस हजारी मार्ग पर शुरू किया था.

(इनपुट: एजेंसी भाषा)

 



Source link