पटियाला के जीवन अस्पताल के डाक्टरों पर बेटे की जान से खिलवाड़ करने के गंभीर आरोप

0
91

बठिंडा निवासी मुकेश कुमार ने पटियाला के जीवन अस्पताल के डाक्टरों पर बेटे की जान से खिलवाड़ करने के गंभीर आरोप लगाए हैं। मुकेश ने बताया कि बेटे लविश को पेट में दर्द होने की शिकायत के बाद उक्त अस्पताल में भर्ती करवाया गया था। अस्पताल के डाक्टरों ने पत्थरी का आपरेशन करने के बजाय उसके पेट में स्टंट डाल दिया और मोटा बिल बना दिया गया। हालांकि रकम आयुष्मान कार्ड के जरिए ली गई है लेकिन सही इलाज नहीं किया गया। उन्होंने इसकी शिकायत डीजीपी पंजाब को की है। उधर, डीजीपी के ग्रेवांस सेल ने एसएसपी पटियाला हरचरण सिंह भुल्लर को मेल कार्रवाई के लिए आगे भेज दी है। वहीं, इस बारे में एसएसपी ने कहा कि उन्होंने फिलहाल मेल देखी नहीं है। वे चेक करके इस पर कार्रवाई के लिए किसी की ड्यूटी लगा देंगे।

 

बठिडा के ग्रीन सिटी रोड महेश्वरी कालोनी निवासी मुकेश कुमार ने बताया कि उनका बेटा लविश पटियाला में एक निजी इंस्टीट्यूट में कोचिग ले रहा है। 18 सितंबर की आधी रात को उसके पेट में दर्द हुआ तो वे उसे जीवन अस्पताल में ले आए। उन्हें पत्थरी बताकर आपरेशन करने की बात कही गई। आपरेशन के बाद बेटे को छुट्टी दे दी गई। कुछ दिन बाद फिर बेटे को पेट दर्द हुआ तो वे फिर अस्पताल पहुंचे तो उन्हें पेट में स्टंट डालने की बात कही। फिर कुछ दिन बाद पेट दर्द उठा तो उन्हें कहा गया कि स्टंट गलत डाल दिया है। कुछ दिन इलाज के बाद फिर भी पुत्र के पेट में दर्द नहीं हटा तो उन्होंने बठिडा के कुछ अस्पतालों में चेकअप करवाया। यहां डाक्टरों ने बताया कि लविश का तो पत्थरी का आपरेशन हुआ ही नहीं है। अब उन्होंने करीब सप्ताह पहले बठिडा में अपने पुत्र की पत्थरी के आपरेशन करवाया है।

– सुमेश कौशल, कोआर्डिनेटर, जीवन अस्पताल-

अस्पताल में लविश का इलाज उचित तरीके से किया गया है। उसकी सेहत के साथ कोई खिलवाड़ नहीं किया गया। अगर किसी को शिकायत है तो उसकी शिकायत पर पुलिस व सेहत विभाग अपनी जांच करके अपनी कार्रवाई करेगा। अपने मरीजों को सही उपचार मुहैया करवाने के लिए अस्पताल मैनेजमेंट पूरी तरह से गंभीर है।

-डा. प्रिंस सोढी, सिविल सर्जन-

मेरे पास जीवन अस्पताल के संबंध में अब तक कोई शिकायत नहीं आई है। पुलिस की तरफ से पत्र आएगा तो सेहत विभाग इसकी जांच करेगा।