नाईवाला पंचायत को मिला संगठनों का साथ, अनिश्चितकालीन धरने का ऐलान

0
282

बरनाला : गांव नाईवाला के सरकारी हाई स्कूल के मामले को लेकर 26 प्रदर्शनकारियों पर दर्ज केस को रद करवाने, शिक्षक जतिदर सिंह का तबादला रोकने व शिक्षक हरप्रीत इंद्र सिंह की गिरफ्तारी की मांग को लेकर विगत 12 दिनों से गांव निवासी पानी की टंकी पर चढ़कर अपनी मांगो को लेकर प्रदर्शन कर रहे है। 4 जनवरी को गांव नाईवाला के पंचायत सदस्य, सरपंच जतिदर सिंह व गांव निवासी द्वारा इंसाफ को लेकर पुलिस प्रशासन व जिला प्रशासन द्वारा मिल रहे झूठे भरोसा से परेशान होकर बैठक की गई। इस बैठक में क्रांतिकारी किसान यूनियन, सिख यूनाइटेड, शिअद अमृतसर, लक्खा सिधाना, भाकियू डकौदा सहित अन्य संगठनों का समर्थन लेकर धरना को अनिश्चितकालीन शुरू कर दिया है व अगले सप्ताह संघर्ष को बड़ा करके रोड जाम करने की चेतावनी दी है। शनिवार को भी पानी की टंकी पर प्रदर्शनकारियों ने इंसाफ की मांग को लेकर पुलिस प्रशासन व जिला प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी करके रोष प्रदर्शन किया।
इस अवसर पर संघर्ष कमेटी के अमृतपाल सिंह, गुरजंट सिंह, जगतार सिंह, मनप्रीत सिंह, जगदीश सिंह, बहादर सिंह, अमनदीप सिंह, बचित्तर सिंह, कर्मजीत सिंह, गुरप्रीत सिंह, लक्ष्मी कौर, हरदेव कौर, वीरपाल कौर, कमलेश कौर, इकबाल कौर व अंग्रेज कौर ने कहा कि उनकी मांगो को मानने की जगह उन्हें हर बार झूठा भरोसा दिया जा रहा है, परंतु उन्हे भरोसा नहीं इंसाफ चाहिए। जब तक उनकी मांग पूरी नहीं की जाएगी, तब तक संघर्ष जारी रहेगा।
एसएसपी हरजीत सिंह ने कहा कि उनकी तरफ से उक्त मामले में डीएसपी सिटी को बयान दर्ज करने के बाद जांच के आदेश दिए हैं व बयान के आधार पर अगली कार्रवाई की जाएगी। ये है पूरा मामला
विगत दिनों 17 दिसंबर को गांव नाईवाला में सरकारी स्कूल के अध्यापक जतिदर सिंह के हुए तबादले को लेकर गांव निवासियों ने धरना दिया था व उस समय धरना देने वाले 26 प्रदर्शनकारियों के खिलाफ पुलिस ने केस दर्ज किया था। इससे गुस्साए गांव निवासियों ने एक संघर्ष एक्शन कमेटी गठित की, जिसमें कई संगठनों के सदस्य शामिल किए गए व मंगलवार को सुबह 10 बजे संघर्ष एक्शन कमेटी के सदस्यों ने अध्यापक जतिदर सिंह की सेवा स्कूल में फिर से बहाल करवाने, पुलिस की तरफ से दर्ज किया 26 लोगों के खिलाफ केस रद्द करवाने व एक अध्यापक द्वारा जातिसूचक गाली देने पर केस दर्ज करवाने को लेकर 24 दिसंबर से वाटर वर्कस की पानी वाली टंकी पर चढ़कर प्रशासन के खिलाफ रोष प्रदर्शन किया जा रहा है।