दिल्‍ली-NCR में तेज हवाओं के साथ बारिश, लोगों को जानलेवा प्रदूषण से मिलेगी राहत

0
62

दिल्‍ली-एनसीआर में तेज हवाओं संग शनिवार शाम को हुई बारिश .

दिल्‍ली-एनसीआर में तेज हवाओं संग शनिवार शाम को हुई बारिश .

दिल्‍ली-एनसीआर (Delhi-NCR) में शनिवार शाम को तेज हवाओं संग बारिश (Delhi rain) हुई है. विशेषज्ञों के अनुसार वातावरण में घुले प्रदूषित तत्‍व बारिश के पानी में मिलकर नीचे आ जाएंगे. साथ ही तेज हवाएं धुंध हटाने में मददगार होंगी.


  • News18Hindi

  • Last Updated:
    November 2, 2019, 11:58 PM IST

नई दिल्‍ली. पिछले कुछ दिनों से वायु प्रदूषण (Air pollution) और भारी धुंध (Delhi Smog) से परेशान दिल्‍ली-एनसीआर (Delhi-NCR) के लोगों को शनिवार को मौसम ने राहत दी है. शनिवार शाम को दिल्‍ली-एनसीआर के कई हिस्‍सों में भारी बारिश (Rain) हुई है. साथ ही तेज हवाएं भी चल रही है. इससे वायु प्रदूषण और स्‍मॉग से जल्‍द राहत मिलने की संभावना जताई जा रही है. विशेषज्ञों के अनुसार वातावरण में घुले प्रदूषित तत्‍व बारिश के पानी में मिलकर नीचे आ जाएंगे. साथ ही तेज हवाएं धुंध हटाने में मदद करेंगी.

वहीं, मौसम विभाग ने चक्रवात ‘महा’ और ताजा पश्चिमी विक्षोभ के प्रभाव से पंजाब, हरियाणा, राजस्थान और दिल्ली में सात और आठ नवम्बर को बारिश होने की संभावना जताई है. उनके अनुसार हल्की बारिश होगी लेकिन यह जल रही पराली के प्रभाव को कम करने के संदर्भ में महत्वपूर्ण होगी और प्रदूषकों को भी दूर करेगी.

बारिश और तेज हवा से सुधरी हवा
शुक्रवार की तुलना में हवा की तेज गति से दिल्ली के प्रदूषण स्तर में थोड़ा सुधार आया. शनिवार को एयर क्वालिटी सूचकांक गंभीर स्तर से सुधरकर बेहद खराब स्तर पर पहुंच गया. दिल्ली में यह 399 पर आ गया है. गाजियाबाद, नोएडा, ग्रेटर नोएडा, फरीदाबाद व गुरुग्राम में भी देखी गई. शाम को दिल्ली के अलावा नोएडा, ग्रेटर नोएडा, गाजियाबाद में हुई हल्की बारिश ने लोगों को प्रदूषण से राहत दी.5 नवंबर तक स्‍कूल बंद

इससे पहले देश की राजधानी और आसपास के शहरों पर छाई जहरीली धुंध की चादर से शनिवार सुबह लोगों को थोड़ी सी राहत मिली थी और वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) 407 रहा लेकिन अब भी यह ‘गंभीर’ श्रेणी में ही है. शुक्रवार शाम चार बजे एक्यूआई 484 था. राष्ट्रीय राजधानी में प्रदूषण के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए सरकार पहले ही पांच नवम्बर तक सभी स्कूलों के बंद रहने का एलान कर चुकी है. वहीं पांच नवम्बर तक सभी प्रकार के निर्माण कार्यों पर भी रोक लगी है.

रविवार से तेज हवाएं चलने की संभावना
पर्यावरण प्रदूषण (रोकथाम व नियंत्रण) प्राधिकरण (ईपीसीए) ने दिल्ली-एनसीआर में जन स्वास्थ्य आपातकाल की घोषणा भी की है. पूरी ठंड में पटाखे फोड़ने पर भी प्रतिबंध है. केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) के अनुसार राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (एनसीआर) के गाजियाबाद और ग्रेटर नोएडा में एक्यूआई सुबह 10 बजे क्रमश: 459 और 452 रहा. कल शुक्रवार शाम चार बजे यह 496 था. मौसम विशेषज्ञों ने कहा कि हवा की गति में थोड़ा सुधार है और धीरे-धीरे यह बढ़ सकती है. रविवार से मंगलवार तक इस क्षेत्र में 20-25 किलोमीटर प्रति घंटे तक हवाएं चलने की संभावना है.

मरीजों की संख्‍या बढ़ी

वहीं दिल्ली-एनसीआर में बढ़ते वायु प्रदूषण के बीच अस्पतालों में सांस के मरीजों (Respiratory Patients) की संख्या भी बढ़ने लगी है. दिल्ली-एनसीआर के अधिकांश सरकारी और प्राइवेट अस्पतालों (Hospitals) में सांस के मरीजों की संख्या में पिछले तीन-चार दिनों में बेतहाशा तेजी आई है. सांस के मरीजों की बढ़ती संख्या को देखते हुए दिल्ली के कई निजी अस्पतालों ने ओपीडी टाइमिंग (OPD Timing) बढ़ा दी है. दिल्ली सरकार (Delhi Government) के स्वास्थ्य विभाग ने भी दिल्ली के सभी सरकारी अस्पतालों को सांस के मरीजों के लिए एक विशेष एडवायजरी जारी की है. वायु के खतरनाक स्तर को देखते हुए दिल्ली के विभिन्न अस्पतालों में सांस के मरीजों की संख्या में पहले की तुलना में 25 से 30 प्रतिशत तक इजाफा हुआ है.

यह भी पढ़ें: हवा में जहर: दिल्ली-NCR के अस्पतालों में सांस के मरीजों की बढ़ने लगी है तादाद

Source link