डॉलर के मुकाबले रुपये में जोरदार तेजी

0
88
घरेलू शेयर बाजार में आई तेजी और फेड की बैठक के फैसले से पहले डॉलर में आई कमजोरी से देसी करेंसी रुपये को सपोर्ट मिला है। भारतीय करेंसी रुपये की बुधवार को पिछले सत्र से करीब 21 पैसे की बढ़त के साथ 75.97 रुपये प्रति डॉलर पर खुलने के बाद 75.86 रुपये प्रति डॉलर पर बना हुआ था, जबकि इससे पहले हाजिर में देसी करेंसी ने 75.83 रुपये प्रति डॉलर तक की बढ़त बनाई जोकि 10 अप्रैल के बाद रुपये का सबसे ऊंचा स्तर है।
करेंसी बाजार के जानकार बताते हैं कि कोरोना के कहर से ठप पड़ी आर्थिक गतिविधियों के पटरी पर लौटने की उम्मीदों से एशियाई शेयर बाजारों में तेजी का रुझान देखा जा रहा है जबकि दुनिया की छह प्रमुख मुद्राओं के मुकाबले डॉलर की ताकत का सूचक डॉलर इंडेक्स में कमजोरी आई है। बीते सत्र में भी डॉलर के मुकाबले रुपया थोड़ी बढ़त बनाते हुए 76.18 रुपए प्रति डॉलर पर बंद हुआ था।
दुनिया की छह प्रमुख मुद्राओं के मुकाबले डॉलर की ताकत का सूचक डॉलर इंडेक्स बुधवार को लगातार चैथे दिन कमजोर हुआ है। डॉलर इंडेक्स पिछले सत्र के मुकाबले 0.21 फीसदी की कमजोरी के साथ 99.727 पर कारोबार कर रहा था। बता दें कि कोरोना के प्रकोप के दौरान डॉलर इंडेक्स छह अप्रैल को 101.03 तक उछला था।
एंजेल ब्रोकिंग के डिप्टी वाइस प्रेसीडेंट (एनजीं एवं करेंसी रिसर्च) अनुज गुप्ता ने बताया कि अमेरिकी केंद्रीय बैंक फेडरल रिजर्व की बैठक के नतीजों से पहले डॉलर में कमजोरी आई है। दरअसल, कोरोना महामारी के आर्थिक प्रभावों को कम करने के लिए किस गए उपायों के बाद भविष्य की नीति को लेकर फेड इस बैठक में विचार कर सकता है।गुप्ता ने कहा कि घरेलू शेयर बाजार में तेजी से भी देसी करेंसी को सपोर्ट मिला है।