डा विर्क नें बच्चों को निरोग व विलासता रहित जीवन जीने प्रति किया प्रेरित

0
396

-बच्चों को सर्दी की वरदिया भी स्टाफ को भेंट की-
भदौड़ (बरनाला) विजय जिंदल
भोग विलासता से ऊपर उठकर नव समाज दी सिर्जना में अपना योगदान देना ही सच्ची समाज सेवा है. भोग विलास के लिए जीवन जीने वाले कभी भी समाज के लिए प्रेरणा नहीं बनते बल्कि अपने व अपने से सबंधित व्यक्तियों के जीवन में भी दुशवारिया पैदा करते दुखी रहते हैं।
ये विचार आज कुदर्ती ईलाज प्रणाली व योगा अस्पताल नैणेवाल रोड़ के डा गुरमेल सिंह विर्क नें सरकारी सीनीयर सकैंड्री स्कूल (लड़के) भदौड़ में एक समारोह के दौरान के लिए बचचों में वितरित करने हेतु सर्दी वाली वर्दीयां भी स्टाफ के सपुर्द की।
बच्चों व स्टाफ को संबोधित करते हुए कहे इसके अलावा उन्होंने कहा कि अधुनिक युग में इंसान का रहन सहन खान पान सबसे बड़ी बीमारी का रूप धारन कर सामने खड़ा है आधुनिक लाइफ स्टाइल के चलते ही हाई बल्ड प्रैशर, बल्ड शूगर, सांस, फेफड़े, लीवर, चमड़ी आदि की बीमारी के शिकार हो रहे हैं। उन्होंने बच्चों से संक्लप कराया कि कोल्ड ड्रिंक व चीनी से परहेज करें तो 330 बीमारियों से बचा जा सकता है और जितना सादा खान-पान व जीवन शैली को सादा रखा जाए उतना ही बीमारियों से बच कर निरोग जीवन जी सकते हैं। इस, अवसर पर पुलिस थाना भदौड़ के प्रभारी हरसिमरनजीत सिंह, स्कूल अध्यापक अचिंत राज, मास्टर गगनदीप सिंह, बूटा सिंह, सुरजीत सिंह, महिंद्रपाल सिंह, प्रवीन कुमार गौतम के अलावा समूह स्टाफ मौजूद था।