जगविंदर सिंह की सेवा से अब तक बच चुकी हैं अनेकों कीमती जानें

0
26

जगविंदर सिंह की सेवा से अब तक बच चुकी हैं अनेकों कीमती जानें
—खूनदान करने से कीमती जानें बच जाती हैं, इस लिए हर एक को खूनदान जरुर करना चाहिए-जगविंदर सिंह
फोटो-05-बीएनएल-14
बरनाला, 5 दिसंबर (टिंका)-सड़क पर मरीज के लिए खून की तलाश कर रहे एक परिवार को देखा तो उसी दिन से मन में ठान ली कि आज से किसी भी मरीज को खून की तलाश में भटकना नहीं पड़ेगा। जिसके बाद लोगों को खूनदान करने के लिए पहले प्रेरित किया व इसके बाद डोनर को खूनदान करने के बदले एक किलो देसी घी देना शुरु किया। यह सिलसिल 1988 में शुरु हुआ जो अब भी निरंतर जारी है, जी हां हम बात कर रहे श्री गुरु ग्रंथ साहिब सत्कार सभा सोसायटी के जगविंदर सिंह की, जिनकी सेवा की बदौलत अनेको जिंदगियां खूनदान करने से बच गई व और भी जिंदगियां बचाने का प्रयास किया जा रहा है।
-बॉक्स न्यूज-
श्री गुरु ग्रंथ साहिब सत्कार सभा सोसायटी के प्रधान समाज सेवीं जगविंदर सिंह ने बताया कि वह कचहरी चौंक में टायरों की दुकान करता था। एक परिवार को मरीज के लिए खून की जरुरत थी, उनको खूनदान मुहैया करवाने के बाद जब घर आया तो रात भर सोया नहीं, फिर सोचा कि मरीजों को खूनदान करने की कोई प्रक्रिया बनाई जाए, जिसके बाद उन्होंने खूनदान करने वाले डोनरों से संपर्क करना शुरु किया, जिनको वह खुद खूनदान करने के बदले एक किलो देसी घी देते, अगर किसी मरीज को लुधियाना, बठिंडा या अन्य शहर में मरीज को खून की जरुरत होती तो वह डोनर को किराया भी देते ताकि किसी हिसाब से मरीज की जान बच जाए। उन्होंने बताया कि 1988 से शुरु हुआ यह काम अब तक भी जारी है, उनकी तरफ से पहले मस्तुआना साहिब में खूनदान कैंप शुरु किया गया। इसके बाद नानकसर ठाठ बरनाला में खूनदान कैंप लगाए गए व इसके बाद सिविल अस्पताल में हर माह की पांच तारीख को खूनदान कैंप का आयोजन किया जाता है। उन्होंने कहा कि अकेले सिविल अस्पताल में वह पचास के करीब खूनदान कैंप लगा चुके हैं। यह कैंप निरंतर लगते रहेंगे ताकि किसी भी मरीज को खून के लिए भटकना ना पड़े। उन्होंने कहा कि उनकी सभा में उनके साथी साथ मेजर सिंह, सुखदर्शन सिंह, उग्र सिंह, गुरमेल सिंह, गुलाभ सिंह, हरविंदर सिंह, राम सिंह, दलजीत सिंह सूबेदार व अन्य सदस्य, जो हर समय मरीज को खून मुहैया करवाने के लिए उपस्थित रहते हैं। उन्होंने बताया कि वह खुद भी 44 बार खूनदान कर चुके हैं। उन्होंने कहा कि खूनदान करने से कीमती जानें बच जाती हैं, इस लिए हर एक को खूनदान जरुर करना चाहिए।
-बॉक्स न्यूज-
-खून देने से पहले रखें यह ध्यान-
खून दान करने से पहले खाना खाया होना चाहिए, कोई भी दवा ना चलती हो, छह माह से टाइफाइड, काला पीलिया, व कोई भी आप्रेशन ना करवाया हो। अगर खूनदान कर दिया है तो इसके तुरंत बाद दूध, जूस पीना चाहिए, खूनदान करने के बाद बाजू को 15 मिंट दबाकर रखें, खूनदान करने के बाद कोई चक्कर या घबराहट होती है तो ब्लड बैंक की टीम को बताएं।