चीन : प्रकोप से ग्रस्त क्षेत्रों की सहायता के लिए चिकित्सक दल भेजे

0
329
मध्य चीन के हूपेइ प्रांत के वूहान शहर में नए कोरोनोवायरस निमोनिया प्रकोप के बाद देश में प्रकोप ग्रस्त क्षेत्रों को सहायता देने के लिए देश के दूसरे क्षेत्रों से अनेक चिकित्सक दल भेजे गये हैं। यहां तक कि दूसरे देशों के चिकित्सीय विशेषज्ञ भी चीन की सहायता करने के लिए आये हैं। जर्मन विशेषज्ञों ने इनहिबिटर्स लेकर चीन में प्रकोप-रोधी काम करना शुरू किया। उन्होंने बताया कि कोरोनवायरस आत्म-सीमित हैं। इसलिए जब पर्याप्त लोगों के शरीर में एंटीबॉडी विकसित होते हैं, तब वायरस के निरंतर प्रसार को सीमित किया जा सकेगा। उन्होंने आम लोगों से छुट्टियों में घर में रहने की सलाह दी और भीड़ भाड़ जगहों पर मास्क पहनना चाहिये। उधर ह्वाजूंग विज्ञान और तकनीक विश्वविद्यालय के तहत तूंगची अस्पताल के डॉक्टर क्वो वई ने कहा कि श्वसन संक्रमण को रोकने से सभी लोगों पर प्रभाव पड़ता है। आशा है कि हमारी कोशिश से बीमारियों को जल्द ही नियंत्रित किया जा सके। 25 जनवरी को यानी चीनी पंचांग के अनुसार नये साल के प्रथम दिन चीन के हूनान प्रांत, सछ्वान प्रांत और च्यांगसू प्रांत के चिकित्सक दल प्रकोप से ग्रस्त हूपेइ प्रांत गये। सछ्वान प्रांत के चिकित्सक दल के प्रधान चाओ जूंग ह्वेई ने कहा कि वूहान शहर की सहायता करना हमारे चिकित्सकों के लिए अनिवार्य जिम्मेदारी है। उधर शांघाई शहर के ह्वाशान अस्पताल के उप प्रधान मा शी ने कहा कि उन्होंने वसंत त्योहार की छुट्ठियों को भी छोड़ दिया है और वे प्रकोप ग्रस्त क्षेत्रों की सहायता करने के लिए तैयार हो चुके हैं। जब कोई महामारी आती है, तभी डॉक्टरों को हमेशा अग्रिम पंक्ति पर खड़े रहना चाहिये।