HomeNEWSPunjabकोरोना पर भी पाक की बेरुखी / सार्क की वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में...

कोरोना पर भी पाक की बेरुखी / सार्क की वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में इमरान को छोड़कर 7 देशों के प्रमुख शामिल हुए, मोदी ने कहा- भारत 74 करोड़ का इमरजेंसी फंड बनाएगा

  • मोदी ने नेपाल, बांग्लादेश, मालदीव, श्रीलंका, अफगानिस्तान और भूटान के राष्ट्र प्रमुखों से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बात की
  • भारत ने कोरोना संकट से निपटने के लिए 74 करोड़ रु. का इमरजेंसी फंड बनाने का प्रस्ताव सार्क देशों के सामने रखा है
  • सार्क देशों में कोरोना के 178 मामले: भारत के बाद पाकिस्तान में सर्वाधिक 34 मामलों की पुष्टि, 7 हजार लोग निगरानी में

नई दिल्ली/ इस्लामाबाद/ ढाका/ काठमांडूदुनियाभर में कोरोनावायरस के संक्रमितों की संख्या तेजी से बढ़ रही है। भारत और पाकिस्तान समेत सार्क के 8 देशों में अब तक 178 मामलों की पुष्टि हुई है। भारत में सबसे ज्यादा 109 मामले सामने आए। पाकिस्तान में भी 34 कोरोना पॉजिटिव मिल चुके हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की पहल पर रविवार को 7 देशों के राष्ट्र प्रमुख वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में शामिल हुए। लेकिन इसमें भी पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान की बेरुखी साफ नजर आई। वे खुद चर्चा में शामिल नहीं हुए और अपने स्वास्थ्य मंत्री को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में भेज दिया।

मोदी ने कहा- डब्ल्यूएचओ ने कोरोना को महामारी घोषित किया है। लेकिन घबराना नहीं और हमेशा तैयार रहना संक्रमण से लड़ने के लिए भारत का मूलमंत्र रहा है। उन्होंने कोरोना संकट से निपटने के लिए सार्क देशों के सामने 10 मिलियन डॉलर (74 करोड़ रुपए) का इमरजेंसी फंड बनाने का प्रस्ताव रखा। इसमें सार्क देश अपनी इच्छा से अनुदान दे सकते हैं। साथ ही मोदी ने बताया कि हमने आपदा पीड़ितों की निगरानी के लिए एक पोर्टल तैयार किया है। इसे सार्क के सभी सदस्य देशों के साथ साझा किया जाएगा। विकासशील देशों के सामने हेल्थकेयर सुविधाओं को लेकर बड़ी चुनौती है। हमें कोरोना से लड़ाई में मिलकर काम करना चाहिए। भारत ने ट्रैवल रिस्ट्रक्शन लगाए, लोगों को जागरूक करने के लिए अभियान चलाया, मेडिकल स्टॉफ को ट्रेनिंग दी। इसके साथ-साथ विदेशों में फंसे अपने 1400 से ज्यादा नागरिकों को निकाला।

सार्क देशों ने मोदी को शुक्रिया कहा, अपनी तैयारियां बताईं

  • अफगानिस्तान: राष्ट्रपति अशरफ गनी ने कहा- भारत सार्क और शंघाई सहयोग का महत्वपूर्ण सदस्य है। हमें कोरोनावायरस से मुकाबला करने के लिए टेली-मेडिसिन का एक सामान्य ढांचा तैयार करना चाहिए। सीमाओं के बंद होने से भोजन, दवाओं और बुनियादी वस्तुओं की उपलब्धता की महत्वपूर्ण समस्या हो जाएगी।
  • श्रीलंका: राष्ट्रपति गोतबाया राजपक्षे ने कहा- सबसे पहले अपने अनुभवों, विचारों को साझा करने, चुनौतियों को समझने और इससे लड़ने के लिए उठाए जाने वाले कदमों पर चर्चा करने के लिए मोदी को धन्यवाद देना चाहिए। कोरोना की वजह से हमारी अर्थव्यवस्था को झटका लगा है। विशेष रूप से पर्यटन क्षेत्र, जो पिछले साल के आतंकी हमले के बाद ठीक हो रहा था।
  • मालदीव: राष्ट्रपति इब्राहिम मोहम्मद सोलिह ने कहा- भारत से सहायता प्राप्त करने के लिए मालदीव भाग्यशाली है। मैं सरकार की ओर से मोदी और भारत के लोगों की सराहना करता हूं।
  • नेपाल: प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली ने कहा- मैं पीएम मोदी को इस महत्वपूर्ण और समयबद्ध पहल के लिए धन्यवाद देना चाहता हूं। हमारे सामूहिक ज्ञान और प्रयास से हमें कोरोनावायरस से लड़ने के साथ ही सार्क देशों के लिए मजबूत और ठोस रणनीति तैयार करने में मदद मिलेगी।
  • बांग्लादेश: प्रधानमंत्री शेख हसीना ने कहा- मैं प्रधानमंत्री मोदी को धन्यवाद देती हूं कि उन्होंने यह पहल की। मैं भारतीय छात्रों के साथ वुहान (चीन) से हमारे 23 छात्रों को लाने और उनके इलाज के लिए शुक्रिया।
  • पाकिस्तान: वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में प्रधानमंत्री इमरान खान शामिल नहीं हुए। उनके स्वास्थ्य डॉ. जफर मिर्जा ने कोरोना संकट पर चर्चा में हिस्सा लिया। वे इमरान के स्पेशल एडवाइजर भी हैं। मिर्जा ने बताया कि दुनियाभर में संक्रमण के डेढ़ लाख से ज्यादा मामला सामने आ चुके हैं। सभी सदस्य देशों में संक्रमण फैला हुआ है। हमें इससे निपटने के लिए तैयार रहना होगा।
  • भूटान: प्रधानमंत्री लोते शेरिंग ने कहा- हम सभी को एक साथ लाने के लिए मोदी को धन्यवाद। एकजुटता हर समय जरूरी है। जब दुनिया इस महामारी से लड़ रही है, तो ऐसे समय में हमारे आपसी मतभेदों को पीछे छोड़ देना चाहिए।

Narendra Modi

@narendramodi

Timely action for a healthier planet.

Tomorrow at 5 PM, leaders of SAARC nations will discuss, via conferencing, a roadmap to fight the challenge of COVID-19 Novel Coronavirus.

I am confident that our coming together will lead to effective outcomes and benefit our citizens.

14.6 हज़ार लोग इस बारे में बात कर रहे हैं

सार्क देशों के नेताओं ने मोदी की पहल को सराहा

सार्क देशों में संक्रमितों की संख्या

देश संक्रमित मरीज
भारत 109
पाकिस्तान 34
अफगानिस्तान 11
श्रीलंका 10
मालदीव 10
बांग्लादेश 02
भूटान 01
नेपाल 01
कुल 178

भारत, पाकिस्तान और नेपाल ने बॉर्डर सील किए

कोरोना के चलते भारत, पाकिस्तान और नेपाल ने अपने-अपने बॉर्डर सील कर दिए हैं। पाकिस्तान में 7 हजार लोग सरकार की निगरानी में हैं। ये हाल के दिनों में विदेश यात्रा से लौटे हैं। भारत में करीब 50 हजार लोग निगरानी में हैं। नेपाल ने माउंट एवरेस्ट पर चढ़ाई रोक दी है। बांग्लादेश ने विदेश यात्राओं पर रोक लगा दी है। मालदीव, भूटान और अफगानिस्तान ने भी वीजा आवेदन प्रक्रिया पर फिलहाल रोक लगा दी है। यहां करीब 8 हजार लोगों को क्वारैंटाइन किया गया है।

Must Read

spot_img
%d bloggers like this: