कश्मीरी पंडित Sushil Pandit की हत्या की साजिश, Delhi में हथियारों के साथ दो आरोपी गिरफ्तार

0
18

नई दिल्ली: दिल्ली पुलिस (Delhi Police) ने आरके पुरम इलाके से दो बदमाशों को गिरफ्तार किया है. वे कश्मीरी पंडितों के हक में आवाज उठाने वाले एक कश्मीरी एक्टिविस्ट (Kashmiri Pandit Activist) की हत्या के इरादे से इलाके में घूम रहे थे.

ट्रैप लगाकर दोनों को पकड़ा गया- दिल्ली पुलिस

दिल्ली पुलिस (Delhi Police) के दक्षिण-पश्चिम जिले के डीसीपी प्रताप सिंह ने बताया कि दोनों आरोपियों को वेंकटेश्वर मार्ग से गिरफ्तार किया गया है. दरअसल पुलिस को दो बदमाशों के आरके पुरम में आने की जानकारी मिली थी. सूचना मिली थी कि वे हथियार लेकर किसी  एक्टिविस्ट की हत्या करने की फिराक में घूम रहे हैं. सूचना मिलने के तुरंत बाद पुलिस ने इलाके में ट्रैप लगाया और दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया. 

दो पिस्टल, दो कट्टे और 4 कारतूस बरामद

उन्होंने बताया कि आरोपियों के पास से दो पिस्टल, दो देसी कट्टे और चार जिंदा कारतूस बरामद किए गए हैं. उन्होंने कहा कि मामले की संवेदनशीलता देखते हुए फिलहाल एक्टिविस्ट का नाम जाहिर नहीं किया जा सकता है. फिलहाल दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल दोनों आरोपियों से पूछताछ कर रही है.

पंजाब की जेल में बंद गैंगस्टर ने दी सुपारी

सूत्रों ने बताया कि पकड़े गए आरोपियों के नाम सुखविंदर और लखन हैं. दोनों आरोपी पंजाब के फरीदकोट जिले के कोटकापुरा गांव के रहने वाले हैं. उनके पास से बरामद हुई पिस्टल पर USSR लिखा हुआ है लेकिन जो स्टार बना हुआ है. वह पाकिस्तान में बनी पिस्टलों पर लगाया जाता है. पूछताछ में दोनों आरोपियों ने बताया कि पंजाब की जेल में बंद गैंगस्टर प्रिंस (Gangster Prince) ने उन्हें ये सुपारी दी थी. 

दुबई में बैठे लोगों ने हत्या के लिए भेजा पैसा

पुलिस के मुताबिक गैंगस्टर प्रिंस  (Gangster Prince) को ये सुपारी दुबई और पाकिस्तान में बैठे 2 लोगों ने दी थी. गैंगस्टर के साथ ये लोग सिग्नल एप के जरिए बात करते थे. पकड़ा गया आरोपी लखन जेल में बंद गैंगस्टर प्रिंस का दोस्त है. दोनों आरोपियों को तब पकड़ा गया, जब वे दक्षिणी दिल्ली में कुछ दिन रहने के लिए किराये का मकान तलाश रहे थे. 

ये भी पढ़ें- Delhi: Punjabi Bagh में दबंगों ने मां-बेटे पर किया जानलेवा हमला, शोर मचाने से रोक रही थी महिला

पाकिस्तान से जुड़ रहे हैं आरोपियों के तार

पुलिस सूत्रों के मुताबिक दोनों आरोपी कश्मीरी एक्टिविस्ट सुशील पंडित (Sushil Pandit) की हत्या करने आए थे. इस काम के लिए उन्हें पंजाब के गैंगस्टर ने 20 लाख रुपये की सुपारी दी थी. माना जा रहा है कि इस सुपारी का असली मास्टरमाइंड कोई और है, जिसके तार पाकिस्तान से जुड़े हुए हैं. एक्टिविस्ट सुशील पंडित के परिवार ने 1989 में आतंकवाद शुरू होने पर कश्मीर से पलायन किया था. उसके बाद से वे विभिन्न मंचों पर कश्मीरी पंडितों की पीड़ा को उठाते रहे हैं. इसके लिए उन्होंने रूट्स इन कश्मीर नाम की संस्था भी बना रखी है.

LIVE TV



Source link