Home World इजराइल में इसी महीने शुरू होगा कोरोना वायरस टीका ‘ब्रिलाइफ’ का मानव...

इजराइल में इसी महीने शुरू होगा कोरोना वायरस टीका ‘ब्रिलाइफ’ का मानव परीक्षण

0
10

इजराइल में कोरोना के टीके ‘ब्रिलाइफ’ पर जल्द ही मानव ट्रायल शुरू किया जाएगा. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

इजराइल में कोरोना के टीके ‘ब्रिलाइफ’ पर जल्द ही मानव ट्रायल शुरू किया जाएगा. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

इजराइल में कोविड-19 (Covid-19) के लिए विकसित किए गए टीके ‘ब्रिलाइफ’ (Brillife) का मानव पर परीक्षण (Human trial) अक्टूबर माह के अंत तक आरंभ होगा. इजराइल ने अगस्त में यह दावा किया था कि उसके पास कोरोना वायरस का टीका है

यरूशलम. इजराइल में कोविड-19 (Covid-19) के लिए विकसित किए गए टीके ‘ब्रिलाइफ’ (Brillife) का मानव पर परीक्षण (Human trial in Israel) अक्टूबर माह के अंत तक आरंभ होगा. एक अधिकारिक प्रेस विज्ञप्ति में यह जानकारी दी गई. टीका ‘इजराइल इंस्टीट्यूट ऑफ बायोलॉजिकल रिसर्च’ (IIBR)  ने विकसित किया है. इजराइल ने अगस्त में यह दावा किया था कि उसके पास कोरोना वायरस का टीका है लेकिन इसे नियामक प्रक्रियाओं से गुजरना होगा और इन प्रक्रियाओं की शुरुआत मानव परीक्षण के साथ होगी.

टीके के मानव परीक्षण के बारे में नहीं दी जानकारी

रक्षा मंत्री बेनी गांट्ज सोमवार को आईआईबीआर पहुंचे जहां उन्हें टीके के मानव परीक्षण के बारे में जानकारी दी गई. विज्ञप्ति में यह नहीं बताया गया है कि टीके का मानव परीक्षण कितने समय तक चलेगा और टीका इस्तेमाल में कब से आने लगेगा.

इस देश में 91 लाख लोगों को दी जाएगी वैक्सीनवहीं] इंडोनेशिया पहले चरण में इस साल नवंबर और दिसंबर के बीच 91 लाख लोगों को कोविड-19 वैक्सीन प्रदान करेगा. इंडोनेशिया स्वास्थ्य मंत्रालय के रोग नियंत्रण और रोकथाम महानिदेशक अचमद युरिएंटो ने इस बात की जानकारी दी. पहले चरण में टीकाकरण उन लोगों के समूह पर किया जाएगा, जिनको कोरोना वायरस  के संक्रमण का सबसे अधिक खतरा है. इनमें हवाईअड्डे के कर्मचारी, सैनिक और पुलिसकर्मी सहित चिकित्सा और सार्वजनिक सेवा में लगे कर्मचारी शामिल हैं.

ये भी पढ़ें: पाकिस्तान को टेरर फंडिंग खत्म करने के लिए मिली थी ​लंबी लिस्ट, खफा हुआ FATF 

कराची रैली के बाद मरियम शरीफ के पति को होटल का कमरा तोड़ पुलिस ने किया गिरफ्तार 

युरिएंटो ने कहा, “यह टीका केवल 18 वर्ष से 59 वर्ष की आयु के लोगों को दिया जाएगा, क्योंकि अभी तक इस आयु सीमा के बाहर के लोगों पर क्लिनिकल ट्रायल नहीं किया गया है.” बता दें कि वर्तमान में इंडोनेशिया चीन और दक्षिण कोरिया के साथ वैक्सीन विकास सहयोग पर काम कर रहा है. इंडोनेशियाई ड्रग एंड फूड सुपरवाइजरी एजेंसी द्वारा आपातकालीन उपयोग की अनुमति और इंडोनेशियन उलेमा काउंसिल

Source link

NO COMMENTS

%d bloggers like this: