इंडस्ट्री एक्साइटेड, 50 फिल्में रिलीज के लिए तैयार

0
108

नई दिल्ली/मुंबई. लंबे अर्से बाद फिल्म इंडस्ट्री के लिए राहत की खबर आई है. 10 महीने बाद पहली बार सोमवार को देश में सिनेमाघर 100 प्रतिशत सीटों की क्षमता (Movie Theaters open with 100 percent seats) के साथ खुले. आपको बता दें कि केंद्र सरकार ने सोमवार से सिनेमाघरों को 100 प्रतिशत क्षमता के साथ खोलने की अनुमति दी है. केंद्रीय सूचना और प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर (Prakash Javadekar) ने रविवार को सिनेमा हॉल के सुचारू संचालन को सुनिश्चित करने के लिए एसओपी (मानक संचालन प्रक्रिया) का एक नया सेट जारी किया.

सरकार के इस फैसले ने थिएटर मालिकों, वितरकों और निर्माताओं को खुश कर दिया, जिनका कहना है कि यह उनके उद्योग को फिर से पटरी पर लाने के लिए बहुत जरूरी कदम है. मार्च 2020 से ही देशभर के सिनेमाघर बंद पड़े हुए थे, जिसके चलते बड़ी बजट की कई फिल्में रिलीज नहीं हो पाईं. सिनेमा हॉल बंद होने के कारण, अक्षय कुमार (Akshay Kumar) स्टारर फिल्म ‘सूर्यवंशी’, रणवीर सिंह (Ranveer Singh) की ’83’ और आमिर खान (Aamir Khan) की ‘लाल सिंह चड्ढा (Lal Singh Chaddha)’, जॉन अब्राहम की सत्यमेव जयते 2, सलमान खान की ‘राधे: योर मोस्ट वांटेड भाई’ जैसी बड़ी फिल्में रिलीज नहीं हो पाईं, इन सभी फिल्मों के निर्माताओं को रिलीज की तारीख आगे बढ़ानी पड़ी.

हालांकि, कोरोना वायरस संक्रमण के मामलों में कमी और टीकाकरण के शुरू होने से अब स्थिति बदलने की संभावना है और 2021 पूरी तरह से ‘सिनेमा मनोरंजन’ का वर्ष हो सकता है. फिल्म इंडस्ट्री के अंदरूनी सूत्रों ने कहा कि इस साल 50 से अधिक फिल्में सिनेमाघरों में रिलीज के लिए तैयार हैं. उद्योग नुकसान से जल्दी उबरने की कोशिशें करेगा.

पीवीआर पिक्चर्स के सीईओ कमल ज्ञानचंदानी ने कहा, ‘यह सरकार द्वारा उठाया गया एक बहुत ही सकारात्मक कदम है, और यह एक बड़ा मौका है. यह फिल्म इंडस्ट्री के संकट से उबरने की प्रक्रिया को गति देगा.’ ज्ञानचंदानी ने कहा कि अधिकतर फिल्मों के निर्माता सिनेमाघरों के पूरी क्षमता के साथ खुलने को लेकर अनिश्चितता की स्थिति में थे, वे अब सरकार के इस फैसले के बाद अपनी बड़ी और मध्यम बजट की फिल्मों को रिलीज करने के लिए प्रोत्साहित होंगे.दिल्ली, तमिलनाडु और गुजरात में 100 प्रतिशत क्षमता के साथ खुले सिनेमाघर
उन्होंने कहा कि पहले दिन दिल्ली, तमिलनाडु और गुजरात समेत देश के कई राज्यों ने केंद्र के फैसले के बाद सिनेमाघरों को 100 प्रतिशत क्षमता के साथ संचालन की अनुमति दी है. चूंकि इसके संचालन के लिए नया प्रोटोकॉल केवल एक दिन पहले जारी किया गया था, इसलिए सभी राज्यों में ये चीजें होने में 10-15 दिन लग सकते हैं.

आईनॉक्स लिजर लिमिटेड के मुख्य कार्यक्रम अधिकारी राजेंद्र सिंह ज्वाला ने भी उम्मीद जतायी कि यह सामान्य स्थिति में लौटने का संकेत है. उन्होंने कहा कि बैठने की क्षमता में छूट, निर्माताओं को अपनी फिल्मों की रिलीज की तारीख की योजना बनाने में मदद करेगी. ज्वाला ने कहा कि 2021 में कई बड़ी फिल्में रिलीज होने वाली हैं.

एम्मे एंटरटेनमेंट की सह-संस्थापक और निर्माता मोनिशा आडवाणी ने कहा कि सिनेमा हॉल खोलने का सरकार का निर्णय चीजों के सामान्य स्थिति में वापस लौटने का प्रतीक है. आडवाणी ने बताया, ‘हम दर्शकों का स्वागत करने के लिए काफी उत्सुक हैं और फिर से सिनेमा जगत भारत के मनोरंजन के लिए पूरी तरह से तैयार है.’



Source link